‘नोटबंदी की सफलता पर बोले जेटली, कहा- आतंकवादी गतिविधियां हुईं कम

नई दिल्ली। नोटबंदी के एक साल पूरे होने से ठीक एक दिन पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि नोटबंदी एक अभूतपूर्व घटना थी, अर्थव्यवस्था के भविष्य को बदलना अनिवार्य था। उन्होंने कहा नोटबंदी से पहले कैश का अत्यधिक इस्तेमाल हो रहा था। उन्होंने कहा सरकार द्वारा किए गए बदलावों के बाद अर्थव्यवस्था में टेक्नोलॉजी का महत्व बढ़ गया है।

एक प्रेस कॉफ्रेंस को संबोधित करते हुए उन्होंने बताया कि नोटबंदी के बाद टेरर फंडिग की रोकथाम हुई है, टैक्स के दायरे में ज्यादा लोग आए हैं। नोटबंदी के बाद करेंसी तेज़ी से लोगों तक पहुंचाई गई।

कांग्रेस पर बोला हमला
जेटली ने कहा 10 साल तक क्रांग्रेस ने देश में कुछ भी नहीं किया,हमारी सरकार ने बदलाव की शुरुआत की। उन्होंने कहा कांग्रेस का मुख्य उद्देश्य परिवार की सेवा करना है जबकि भाजपा देश की सेवा करना चाहती है। नोटबंदी में कैश जमा होने के मतलब यह नहीं है कि यह फेल गया। नोटबंदी में जिस तरह से नए नोट लाए गए, वह अपने आप में एक रिकॉर्ड है।

जब कोई पैसा बैंक में आता है तो पता चलता है कि उसका मालिक कौन है। नोटबंदी ने देश में स्वच्छ, पारदर्शितापूर्ण और ईमानदार वित्तीय प्रणाली प्रदान की है जिस पर आने वाली पीढ़ी गर्व करेगी। वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार ने आने के बाद एक के बाद एक कदम उठाए हैं। सरकार ने पहले एस.आई.टी. बनाई, काले धन के खिलाफ एक्शन लिया, बेनामी संपत्ति पर कदम उठाए हैं।

सरकार मनाएगी ‘ऐंटी ब्लैक मनी डे’
बता दें कि सरकार आठ नवंबर को पूरे देश के नौ राज्यो की राजधानियों में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगी। जिसमें सरकार के फैसले, नोटबंदी के फायदे और काला धन पर सरकार और भाजपा अपनी बात रखेगी। आठों शहरों में सरकार के कद्दावर मंत्री जनता तक बात पहुंचाने का जिम्मा संभालेंगे।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) आठ नवंबर को नोटबंदी की सालगिरह को ‘ऐंटी ब्लैक मनी डे’ के तौर पर मना रही है। सरकार की ओर से आंकड़ों के माध्यम से नोटबंदी के फायदे गिनाए जाएंगे। सरकार कह रही है कि उसने नोटबंदी के ऐलान के दौरान जो भी दावे किए थे वो सभी पूरे हो गए।

 

loading...