राष्ट्रपति ट्रंप ने वियतनाम में ‘नमो नमो’, से बांधे PM मोदी की तारीफों के पुल

विनयतनाम। विनयतनाम में चल रहे एशिया प्रशांत आर्थिक सहयोग (एपीईसी) समिट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों का डंका बज रहा है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को मोदी की सराहना करते हुए कहा कि वह एक विशाल देश और उसकी जनता को एक साथ जोडऩे में सफलतापूर्वक लगे हुए हैं।

एपेक शिखर सम्मेलन के मौके पर अलग से आयोजित मुख्य कार्यकारियों की बैठक को संबोधित करते हुए ट्रंप ने कहा कि इस समूह के बाहर के देश भी इस हिंद-प्रशांत के नए अध्याय में तेजी से कदम आगे बढ़ा रहे हैं। भारत अपनी आजादी की 70वीं वर्षगांठ मना रहा है। ट्रंप ने भारत को एक सार्वभौमिक लोकतंत्र बताया जिसकी आबादी 1.3 अरब है और वह दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि भारत द्वारा अपनी अर्थव्यवस्थाओं को खोलने के बाद उसने जोरदार वृद्धि हासिल की है और अपने बढ़ते मध्यम वर्ग के लिए अवसरों की नई दुनिया बनाई है। ट्रंप ने कहा कि मोदी रविवार को भारत-आसियान और पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए रवाना हो रहे हैं। ट्रंप भी पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे।

उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार कार्यक्रम में कटौती के लिए क्षेत्रीय समर्थन जुटाने के उद्देश्य से ट्रंप एशियाई देशों की यात्रा पर हैं और उन्होंने कहा कि इस संकट से निपटने के लिए समय तेजी से खत्म हो रहा है। ट्रंप ने एपेक के दौरान कहा कि इस क्षेत्र और इसके खूबसूरत लोगों के भविष्य को किसी तानाशाह की हिंसक विजय एवं परमाणु ब्लैकमेल की फंतासियों का बंधक नहीं बनाया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र को आवश्यक रूप से उत्तर कोरिया द्वारा ज्यादा हथियारों की दिशा में उठाया गया कोई भी कदम ज्यादा खतरे की तरफ लेकर जाएगा जिसके खिलाफ हमें साथ खड़े होना होगा। उन्होंने देशों का आह्वान किया कि उन्हें इसके खिलाफ एकजुट होना चाहिए।

loading...