योगी ने PM पद की उम्मीदवारी को लेकर दिया ये बयान

लखनऊ: देश के सबसे बड़े सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवारी को लेकर बड़ा बयान दिया है। योगी ने कहा है कि प्रधानमंत्री के लिए मोदी से योग्य कोई नहीं है। एक निजी चैनल के कार्यक्रम में सवालों के जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने ये बातें कही।

क्या 2024 में प्रधानमंत्री पद के दावेदार होंगे?
अभी चुनाव कहां से लड़ेंगे और क्या 2024 में प्रधानमंत्री पद के दावेदार होंगे के सवाल पर योगी ने कहा, ‘‘पार्टी जहां से कहेगी, वहां से लड़ूंगा। प्रधानमंत्री के लिए मोदी से योग्य कोई नहीं। मेरी दिशा पूरब की ओर ही है। मैं गोरखपुर से लखनऊ लोगों की सेवा करने आया हूं। अंतत: मुझे गोरखपुर ही लौटना है।’’

अयोध्या प्रकरण दोनों पक्ष मिलकर सुलझाएं
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अच्छा होगा कि अयोध्या प्रकरण दोनों पक्ष मिलकर सुलझा लें। अगर दोनों पक्ष मिलकर प्रकरण को सुलझा लें तो दुनिया के सामने सांप्रदायिक सौहार्द की दृष्टि से इससे अच्छा काम नहीं हो सकता। पूरी दुनिया और आने वाली पीढिय़ों के लिए यह मिसाल होगी। देशहित के बारे में सोचेंगे तो आपसी सहमति बन जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हर किसी को सौभाग्य नहीं प्राप्त होता कि उन पर राम की कृपा हो। इसी कारण पूर्व मुख्यमंत्री राम लला के दर्शन को नहीं गए। अयोध्या में ईंट और पत्थर लाए जाने की बाबत उन्होंने कहा कि वहां काफी पहले से पत्थर आ रहे हैं। वैसे भी कारसेवकपुरम की दूरी मंदिर से काफी ज्यादा है।

ताजमहल एक अच्छी इमारत लेकिन आस्था का प्रतीक नहीं
एक प्रश्न पर उन्होंने फिर दोहराया कि ताजमहल एक अच्छी इमारत हो सकती है लेकिन, आस्था का प्रतीक नहीं हो सकती। रामायण और गीता से उसकी तुलना नहीं की जा सकती। इस प्रश्न पर कि आप फायर ब्रांड नेता माने जाते रहे हैं और अब सबको साथ लेकर चलने की बातें करते हैं। योगी ने कहा कि मेरी कार्यपद्धति से क्या यह लगता है कि मैं बदला हूं। पंद्रह वर्ष से सूबे में अवैध बूचडख़़ाने चल रहे थे। एक योगी ही इस प्रकार के काम पर लगाम लगा सकता है।

सहारनपुर हिंसा के लिए मायावती को ठहराया जिम्मेदार
सहारनपुर जातीय संघर्ष के लिए उन्होंने मायावती को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि यदि कोई दंगा नहीं करेगा, तो बहुसंख्यक समाज उसे कुछ नहीं कहेगा।

 

loading...