मूडीज का 2004 के बाद अहम फैसलेे : सरकार और जनता दोनों को होगा फायदा

नेशनल डेस्क। ‘मूडीज के फैसले से सरकार और आम आदमी दोनों को होगा फायदा’ एक्सपर्ट्स का मानना है कि भारत पर विदेशी निवेशकों का भरोसा भी बढ़ेगा।भारत की रेटिंग सुधरने से सेंसेक्स 400 अंक उछल गया है। वहीं, अमेरिकी डॉलर के सामने भारतीय रुपया 69 पैसे मजबूत हो गया है।

एक्सपर्ट्स मानते हैं कि इससे विदेशी निवेशकों का भरोसा भी बढ़ेगा। साथ ही महंगाई में कमी आएगी और देश की इकोनॉमी तेज रफ्तार से दौड़ेगी। इसके अलावा भारत को विदेशी कर्ज मिलना आसान हो जाएगा।

मूडीज के वाइस प्रेसिडेंट— विलियम फोस्टर ने कहा कि 

आर्थिक सुधारों से तेज ग्रोथ को बढ़ावा मिलेगा। वित्त वर्ष 2018 में जीडीपी ग्रोथ 6.7 फीसदी और वित्त वर्ष 2019 में 7.5 फीसदी रहने का अनुमान है। वित्त वर्ष 2020 के बाद ग्रोथ की रफ्तार में तेज बढ़त की उम्मीद है।

‘विदेशी कंपनियां भारत में लगाएंगी पैसा’
डीबीएस बैंक की इकोनॉमिस्ट राधिका राव का कहना है कि मूडीज के इस फैसले का बॉन्ड्स पर असर होगा और दूसरी रेटिंग एजेंसियां भी भारत की बॉन्ड रेटिंग बढ़ा सकती है। इसके अलावा भारत पर विदेशी निवेशकों का भरोसा भी बढ़ेगा और विदेशी कंपनियां देश में पैसा लगाएंगी।

‘देश की आर्थिक ग्रोथ तेज होगी’
अमेरिकी फर्म मॉर्गन स्टैनली इंडिया के एमडी रिधम देसाई का मानना है कि भारत के आर्थिक हालात तेजी से सुधर रहे हैं और अब अगले एक साल में ग्रोथ के आंकड़े चौंकाने वाले हो सकते हैं। रिधम देसाई का कहना है कि भारत पर भरोसा बढ़ा है, आर्थिक हालात अब मजबूत हो रहे हैं, नोटबंदी और जीएसटी का बुरा असर खत्म हो चुका है। अब, अगले 12 महीने में ग्रोथ के आंकड़े बेहद अच्छे होंगे। अगर आसान शब्दों में समझे तो सरकार और आम आदमी दोनों को बड़ा फायदा होगा।

देश के तेजी से बढ़ेगा इंफ्रास्ट्रक्चर
नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार का कहना है कि मूडीज की रेटिंग बढ़ने से विदेशी निवेशकों का भारत पर भरोसा बढ़ेगा। रेटिंग बढ़ने से इंफ्रा में निवेश बढ़ेगा। सुधारों के कारण मूडीज ने रेटिंग बढ़ाई है।

‘महंगाई घटने की उम्मीद’
कोटक महिंद्रा एएमसी के एमडी और सीईओ नीलेश शाह का कहना है कि रिफॉर्म पर डटे रहने से भारत की ग्रोथ बढ़ी। हालांकि भारत को अब भी कई पैमानों पर मजबूती से खड़ा होना पड़ेगा। भारत में अब महंगाई का डर कम होता दिख रहा है। आगे चलकर महंगाई और कम होती दिखाई देगी। आरबीआई ने महंगाई को सही तरीके से काबू किया है। रेटिंग बढ़ने से करेंसी मार्केट को बढ़ावा मिलेगा। इससे एफडीआई और घरेलू निवेशकों का भरोसा बढ़ेगा।

‘शेयर बाजार में मिलेंगे बड़े रिटर्न’
दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला का कहना है कि भारत की जीडीपी ग्रोथ अब 10 फीसदी पर पहुंच सकती है। रेटिंग बढ़ने से देश में कर्ज और सस्ता हो जाएगा। भारत के शेयर बाजार में नई तेजी की शुरुआती हो चुकी है। दुनियाभर के लोग तेजी से भारतीय बाजारों में निवेश करेंगे। इससे आम आदमी को भी बड़े रिटर्न मिलेंगे। रेटिंग बढ़ने से भारतीय कंपनियों को सस्ता कर्ज मिलेगा।

loading...