पद्मावती पर अब थरूर से भिड़ीं स्मृति ईरानी, राजपूत नेताओं से ये सवाल

मनोरंजन डेस्क। फिल्म ‘पद्मावती’ को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। राजपूतों और महाराजाओं पर कमेंट को लेकर कांग्रेस नेता शशि थरूर घिरते नजर आ रहे हैं। पहले थरूर को उनके ही पार्टी के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने लताड़ा। अब केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी शशि थरूर से भिड़ गई हैं। स्मृति ईरानी ने थरूर के बयान पर जवाब मांगा है।

उन्होंने ट्वीट किया- ‘क्या सभी महाराजाओं ने ब्रिटिश के सामने घुटने टेके थे??? शशि थरूर की इस टिप्पणी पर क्या कहेंगे ज्योतिरादित्य सिंधिया, दिग्गी राजा और अमरिंदर सिंह?’ बता दें कि कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया, दिग्विजय सिंह और अमरिंदर सिंह शाही परिवार से हैं।

थरूर ने महाराजाओं को बताया था कायर
पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेसी नेता शशि थरूर ने ‘पद्मावती विवाद’ पर महाराजाओं को कायर बता दिया था। इस बयान से बिफरे कांग्रेसी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने थरूर को नसीहत देते हुए सिंधिया ने कहा,‘शशि थरूर को पहले इतिहास पढ़ना चाहिए कि महाराजाओं की भूमिका क्या थी? और ऐसी बयानबाजी से उन्हें बचना चाहिए।’

विवाद बढ़ने पर दी थी सफाई
हालांकि, गुरुवार को थरूर ने ट्विटर पर अपने बयान को लेकर सफाई दी थी। थरूर ने लिखा, ‘कुछ बीजेपी अंधभक्त साज़िशन झूठा प्रचार कर रहे हैं। मैंने राजपूत समाज के सम्मान के खिलाफ नहीं टिप्पणी की है। मैंने राष्ट्र हित में अंग्रेज़ी हकूमत के कार्यकाल का विरोध करते हुए उन राजाओं की चर्चा की थी, जो स्वतंत्रता संग्राम में अंग्रेज के साथ थे।’

बता दें कि पहले थरूर ने कहा था कि जो ये तथाकथित जांबाज महाराजा एक फिल्मकार के पीछे पड़े हैं। वे ऐसा दावा कर रहे हैं कि उनका सम्मान दांव पर लग गया है, यही महाराजा उस समय भाग खड़े हुए थे, जब ब्रिटिश शासकों ने उनके मान-सम्मान को रौंद दिया था।

 

loading...