रिंग में उतरे पहलवान सुशील कुमार, बिना लड़े ही झटका गोल्ड

इंदौर। दो बार अोलंपिक मेडल जीत चुके रेसलर सुशील कुमार ने 3 साल बाद रेसलिंग मैट पर वापसी कर राष्ट्रीय कुश्ती चैम्पियनशिप के पुरुषों के 74 किलोग्राम फ्रीस्टाइल प्रतियोगिता में सेमीफाइनल और फाइनल मुकाबला खेले बिना ही स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया। महिला कुश्ती में देश की इकलौती ओलंपिक पदक विजेता साक्षी मलिक और दंगल गर्ल गीता फोगाट भी प्रतियोगिता के दूसरे दिन अपनी श्रेणियों में विजेता बनीं।

महज 1 मिनट 33 सेकंड की कुश्ती
सुशील कुमार के जाने पहचाने अंदाज में शुरुआती दो दौर में अपने प्रतिद्वंदियों को मात दी। जिसके बाद उन्हें क्वार्टर फाइनल, सेमीफाइनल और फाइनल में कोई भी चुनौती नहीं मिली। तीनों मुकाबलों में उन्हें वॉकओवर मिला। इस प्रतियोगिता में उन्हें महज 1 मिनट 33 सेकंड की कुश्ती लड़नी पड़ी।

फाइनल में सुशील से नहीं लड़े प्रवीण
फाइनल में सुशील का मुकाबला प्रवीण राणा से था, जहां वह चोटिल होने के कारण मुकाबले में नहीं उतरे। इससे पहले प्रवीण ने उन्हें क्वार्टर फाइनल में वॉकओवर दिया, तो वही सेमीफाइनल में सचिन दहिया उनके खिलाफ रिंग में नहीं उतरे। सुशील ने पहले दौर में मिजोरम के लालमलस्वामा को सिर्फ 48 सेकंड और दूसरे दौर में मुकुल मिश्रा को सिर्फ 45 सेकंड में चित कर दिया।

साक्षी और गीता भी रहीं विजयी
इस बीच गीता ने 59 किलो वर्ग के फाइनल में रविता को चित किया। वहीं साक्षी ने 62 किलो वर्ग में अपनी कॉम्पटीटर हरियाणा की पूजा को एकतरफा मुकाबले में 10-0 से मात दे दी।

loading...