हाफिज सईद ने उगला जहर- अब कश्मीर भी होगा आजाद, भारत कुछ नहीं कर सकता

इस्लामाबाद। मुंबई हमले का मास्टरमाइंड और जमात-उद-दावा सरगना हाफिज सईद आज जेल से रिहा होने वाला है। सूत्रों के अनुसार, वह गुरुवार को नजरबंदी से बाहर आ जाएगा। रिहाई की सूचना मिलते ही एक वीडियो जारी कर उसने कश्मीर की आजादी की बात की है।उसने अपनी रिहाई को ‘पाकिस्तान की आजादी की जीत’ कहा है। 

जमात-उद-दावा पाकिस्तान की ओर से जारी वीडियो में सईद ने कहा, ‘जजों ने रिहाई का हुक्म दिया। मैं जजों का शुक्रिया अदा करता हूं। लाहौर हाईकोर्ट से जुड़े सभी लोगों का धन्यवाद देता हूं। मेरी रिहाई पाकिस्तानी की आजादी की फतह है। इंशाअल्लाह कश्मीर भी आजाद होगा। मेरे और मेरे साथियों की अल्लाह मदद करे कि हम कश्मीर को आज़ाद करा लें। भारत मुझे नुकसान नहीं पहुंचा सकता है। कश्मीर की वजह से ही भारत मेरे पीछे पड़ा है।’

جماعۃ الدعوۃ پاکستان
@JamatUdDawaPak
رہائی کے بعد پروفیسر حافظ محمد سعید حفظہ اللہ کا پہلا ویڈیو پیغام। #HafizSaeedWon #Jud
5:30 PM – Nov 22, 2017

बता दें कि इससे पहले सईद के वकील एके डोगर ने न्यूज 18 से बातचीत में कहा था कि अगर सईद गुनहगार है, तो उसे सजा मिलनी ही चाहिए। लेकिन अगर उसके खिलाफ सबूत नहीं हैं तो कोर्ट उन्हें गुनहगार नहीं ठहरा सकती।

नजरबंदी की मियाद को तीन महीने बढ़ाने के सरकार के आग्रह को खारिज करते हुए बोर्ड ने आज सईद की रिहाई का आदेश दिया। बोर्ड ने कहा, ‘अगर जमात-उद-दावा का प्रमुख हाफिज सईद किसी अन्य मामले में वांछित नहीं है तो उसकी रिहाई का आदेश दिया जाता है।’ पिछले महीने बोर्ड ने सईद की हिरासत 30 दिनों के लिए बढ़ाने की इजाजत दी थी और यह मियाद इस सप्ताह पूरी हो जाएगी।

बोर्ड के आदेश के बाद सईद की रिहाई का रास्ता साफ हो गया है। इस साल 31 जनवरी को सईद और चार साथियों अब्दुल्ला उबैद, मलिक जफर इकबाल, अब्दुल रहमान आबिद और काजी कासिफ हुसैन को पंजाब की सरकार ने आतंकवाद विरोधी कानून-1997 और आतंकवाद विरोधी कानून की चौथी अनुसूची के तहत 90 दिनों के लिए नजरबंद किया था।सईद के चार साथियों को अक्तूबर के आखिरी सप्ताह में रिहा कर दिया गया था। अमेरिका ने सईद पर एक करोड़ डॉलर का ईनाम घोषित कर रखा है।

loading...