CCI ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड पर 52 करोड़ रुपए का लगाया जुर्माना

नई दिल्ली। भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) ने आज आईपीएल मीडिया अधिकार के संदर्भ में प्रतिस्पर्धा रोधी गतिविधियों के लिए भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) पर 52 करोड़ 24 लाख रुपये का जुर्माना लगाया।

सीसीआई ने 44 पन्ने के अपने आदेश में कहा है कि यह जुर्माना पिछले तीन वित्त वर्षों में बीसीसीआई के संबंधित टर्नओवर का लगभग 4.48 प्रतिशत है। बोर्ड की तीन वित्त वर्षों 2013-14, 2014-15 और 2015-16 में औसत कमाई 1164.7 करोड़ रुपये रही है।

सीसीआई ने कहा, ‘‘आयोग के आकलन में स्पष्ट तौर पर पता चला है कि बीसीसीआई ने प्रसारण अधिकारों की बोली लगाने वालों के व्यावसायिक हित के अलावा बीसीसीआई के आर्थिक हितों को बचाने के लिए जानबूझकर मीडिया अधिकार करार में से एक नियम हटाया।’’ इससे पहले 2013 में भी सीसीआई ने बीसीसीआई पर 52 करोड़ 24 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था।

इसके अलावा सीआई ने कहा है कि बीसीसीआई गैर-सदस्यों द्वारा व्यावसायिक घरेलू क्रिकेट लीग/ प्रतियोगिताओं के आयोजन के लिए बाध्यता नहीं लगाएगा। बहरहाल, बीसीसीआई खेल के हित को ध्यान में रखते हुए नियम बनाने और उन्हें दुरूस्त करने का अधिकार रखेगा।

प्रतिस्पर्धा आयोग ने साथ ही कहा कि बीसीसीआई भारत में व्यावसायिक घरेलू क्रिकेट लीग/प्रतियोगिताओं के आयोजन के लिए लागू नियमों के मद्देनजर उचित स्पष्टीकरण जारी करेगा। बीसीसीआई आयोग द्वारा दिए जाने वाले सभी निर्देशों के संबंध में 60 दिन के भीतर अपनी रिपोर्ट पेश करेगा।

सूत्रों के अनुसार चाईना-पाकिस्तान इकॉनोमिक कॉरिडोर (सीपीईसी) के समझौते के तहत पाकिस्तान में कई बड़ी चीजों में बदलाव आया है। CPEC के लिए पाकिस्तान ने अपनी सरकारी नीतियों तक में बदलाव किया है। इसीलिए थारपारकर कोयले की खान का प्रोजेक्ट इस बड़ी योजना का हिस्सा है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सेटेलाइट से जो तस्वीर सामने आई हैं वो काफी चौंकाने वाली है। 28 अक्तूबर, 2017 को ली गई गईं इन तस्वीरों में देखा गया है कि थारपारकर में बन रहे प्रोजैक्ट का काम 70 फीसदी तक पूरा हो चुका है

loading...