अमरनाथ हमला: PM मोदी ने की निंदा, गृह मंत्रालय ने बुलाई आपात बैठक

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज रात कश्मीर में अमरनाथ श्रद्धालुओं पर आतंकी हमले की कड़ी निंदा की और कहा कि भारत एेसे कायरतापूर्ण हमलों और घृणा के नापाक मंसूबों के आगे झुकने वाला नहीं है।

उन्होंने कहा कि उन्होंने राज्य के राज्यपाल एन एन वोहरा और मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से बात की और हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग जिले में आज रात आतंकी हमले में कम से कम सात श्रद्धालुओं की मौत हो गई और कई अन्य घायल हुए। मोदी ने ट्वीट किया, जम्मू कश्मीर में शांतिपूर्ण अमरनाथ यात्रियों पर घातक हमले पर दर्द बयां करने के लिए शब्द नहीं हैं। हमले की सभी लोगों को कड़ी से कड़ी निंदा करनी चाहिए।

उन्होंने कहा, मेरी संवेदनाएं उन लोगों के साथ हैं जिन्होंने जम्मू कश्मीर में हमले में अपने प्रियजन को खो दिया। मेरी प्रार्थनाएं घायलों के साथ हैं। एक अन्य ट्वीट में मोदी ने कहा, भारत एेसे कायरतापूर्ण हमलों और घृणा के नाकाम मंसूबों के आगे नहीं झुकेगा।

गृहमंत्रालय ने बुलाई आपात बैठक
उधर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने अमरनाथ यात्रियों पर आतंकी हमले को लेकर जम्मू कश्मीर के राज्यपाल एन एन वोहरा और मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को फोन किया।

हमले के फौरन बाद पीएमओ हरकत में आ गया है। गृह मंत्रालय ने हमले के पीछे लश्कर का हाथ होने की आशंका जताई है। वहीं एनएसए अजीत डोभाल साउथ ब्लॉक पहुंच गए हैं। गृह मंत्रालय ने वरिष्ठ अधिकारियों की आपात बैठक बुलाई है।

कश्मीर में इंटरनेट सेवा निलंबित
सोशल मीडिया पर लोगों से कल कश्मीर जागरूकता अभियान शुरू करने के अलगावादियों की अपील के बाद एहतियाती तौर पर कश्मीर घाटी में इंटरनेट सेवा आज रात निलंबित कर दी गई। हिज्ब कमांडर बुरहान वानी की मौत के एक साल होने पर कानून और व्यवस्था की समस्या की आशंका से शुक्रवार और शनिवार को प्रशासन द्वारा सेवा रोकने के एक दिन बाद यह कदम उठाया गया। अधिकारियों ने बताया कि मोबाइल और ब्रॉडबैंड सहित इंटरनेट सेवाएं कश्मीर घाटी में निलंबित कर दी गई।

 

loading...