आनंदपाल एनकाउंटर: श्रद्धांजलि देने के दौरान रैली हुई हिंसक, 16 घायल

जयपुर। राजस्थान में पुलिस मुठभेड़ में मारे गए कुख्यात बदमाश आनंदपाल सिंह के नागौर जिले में स्थित सांवराद गांव में आजराजपूत एवं रावणा राजपूत समाज की हुंकार रैली के बाद पुलिस पर पथराव एवं उपद्रव करने से तनाव व्याप्त हो गया और इस दौरान सोलह लोग घायल हो गए।

पुलिसकर्मियों सहित 16 लोग घायल
अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) एन के आर रेड्डी के अनुसार सांवराद में लोगों के उपद्रव एवं पथराव करने से पुलिसकर्मियों सहित सोलह लोग घायल हुए हैं जिनमें तीन की हालत गंभीर है और उन्हें जयपुर सवाई मान सिंह अस्पताल भेजा गया है जबकि तेरह घायलों को डीडवाना के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

रेड्डी ने बताया कि इस दौरान दो पुलिसकर्मी लापता हो गए थे जिनकी तलाश की जा रही है। उन्होंने बताया कि लोगों ने पुलिस अधीक्षक की गाड़ी को आग भी लगा दी।

रैली में हजारों लोग हुए शामिल
रैली एवं सांवराद में की गई श्रद्धांजलि सभा में समाज के हजारों लोगों के पहुंचने के बाद तथा जगह-जगह रास्ता रोकना, रेलवे फाटक तोडऩे एवं टायर जलाकर उपद्रव तथा पुलिस पर पथराव करने से तनाव की स्थिति बन गई। पुलिस के अनुसार हालांकि स्थिति नियंत्रण में बताई जा रही है तथा स्थिति के मद्देनजर सांवराद गांव में अतिरिक्त पुलिस बल मंगाकर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई। इससे पहले मामले के समाधान के लिए सांवराद में प्रशासन एवं पुलिस के साथ राजपूत समाज के एक प्रतिनिधिमंडल ने बातचीत भी की।

ढाई हजार से अधिक जवान तैनात
राज्य के गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया ने बताया कि समाज के प्रतिनिधिमंडल के साथ लगभग आधे घंटे पहले दौर की वार्ता हुई और इसके बाद प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों ने वार्ता की जानकारी आनंदपाल के परिजनों को देने के लिए समय भी मांगा। सांवराद में हुंकार रैली के मद्देनजर पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था के तहत नागौर जिले के थानों के थानाधिकारी, जिले के बाहर के करीब दो दर्जन थानाधिकारियों सहित आरएसी, एसटीएफ और क्यूआरटी के ढाई हजार से अधिक जवान तैनात किए गए। इसके अलावा अन्य जिलों से भी अतिरिक्त सांवराद, डीडवाना लाडनूं क्षेत्र में लगाया गया। इस दौरान लाडनूं कस्बा बंद भी रहा।

 

loading...