इस ट्रेन से मां-बेटी का अपहरण, बंधक बनाकर 10 दिनों तक गैंगरेप

संभल । उत्तर प्रदेश में महिला सुरक्षा का दावा करने वाली योगी सरकार के सारे दावे फेल होते नजर आ रहे हैं। संभल के गुन्नौर में बंधक बनाकर एक महिला (40) और उसकी नाबालिग बेटी (15) के साथ चार युवकों द्वारा गैंगरेप किया गया है। पीड़िता की बेटी अभी भी अपहरणकत्र्ताओं के चंगुल में है।

दिल्ली-बरेली पसेंजर…
बिहार की रहने वाली पीड़ित महिला अपनी नाबालिग बेटी और बेटे के साथ 16 जून को दिल्ली-बरेली पसेंजर ट्रेन में सवार होकर बरेली जा रही थी। इस दौरान ट्रेन में सवार बदमाशों ने महिला को नशाीला पदार्थ सुंघा दिया। बेहोश होने पर बदमाशों ने उसे किडनैप कर गुन्नौर तहसील के किसी गांव में बंधक बना लिया। यहां बदमाशों ने 10 दिन तक मां-बेटी के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। इस दौरान बेटे के साथ महिला ने भागकर किसी तरह अपनी जान बचाई।

बदमाशों के चंगुल में नाबालिग
पीड़िता ने बताया कि उसकी आखों के सामने ही उसकी नाबालिक बेटी के साथ की बर्बरता की गई। बदमाशों ने बेटे राहुल के कनपटी पर तमंचा रख कर मामले को किसी को न बताने की धमकी दी। पीड़िता की बेटी अभी भी बदमाशों के चंगुल में है।

पुलिस ने नहीं सुनी शिकायत
साथ ही पीड़िता का आरोप है कि मामले की शिकायत उन्होंने गुन्नौर कोतवाली पुलिस को दी लेकिन उन्होंने एक नहीं सुनी।

पीड़िता ने राज्यमंत्री गुलाबो देवी से लगाई मदद की गुहार
गुन्नौर कोतवाली पुलिस द्वारा मामला दर्ज न करने पर पीड़िता ने राज्यमंत्री गुलाबो देवी के दर पर मदद की गुहार लगाई है।

मामला राजमंत्री के संज्ञान में आने के बाद संभल की चंदौसी पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। साथ ही पुलिस ने मामले में तुरंत कार्रवाई की बात कही है।

 

loading...