राहुल का निशाना- कश्मीर हिंसा से भाजपा और RSS को फायदा

जगदलपुर। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि मई 2014 में जब से यह सरकार आई है, जम्मू-कश्मीर सहित कई राज्यों में अशांति शुरू हुई है। उन्होंने दावा किया कि मोदी सरकार के शासनकाल में देश के अलग-अलग हिस्सों में फैली अशांति से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस), चीन और पाकिस्तान को फायदा हो रहा है।

राहुल ने कहा कि केन्द्र में एनडीए के सत्ता में आने के बाद कई राज्यों में टकराव शुरू हो गया। यूपीए सरकार के दौरान वहां आतंकवाद कमोबेश खत्म हो गया था। राहुल यहां ‘आमचो हक’ यानी हमारा हक नाम के एक कार्यक्रम के दौरान आदिवासी समुदाय के छात्रों से मुखातिब थे। कांग्रेस की छात्र इकाई नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (एनएसयूआई) की आेर से इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। अमेठी से सांसद राहुल ने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु से भी शांति गायब हो गई।

मोदी को नहीं दिखता छत्तीसगढ़ के सीएम का भ्रष्टाचार

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने दावा किया कि कश्मीर में हालात उस वक्त खराब हुए जब भाजपा ने वहां पीडीपी के साथ गठबंधन सरकार बनाई। इसी तरह, छत्तीसगढ़ में आरएसएस और उद्योगपतियों को बस्तर में टकराव का फायदा मिल रहा है । कांग्रेस सांसद ने आरोप लगाया कि आरएसएस चाहता है कि दलित, आदिवासी और आेबीसी समुदाय के लोग कमजोर और दबे रहें ताकि वह उन पर राज कर सके।

प्रधानमंत्री मोदी आपकी जमीनें इसलिए खरीदना चाहते हैं ताकि इसे खदान उद्योगपतियों को दे सकें।उन्होंने कहा कि मोदी जी भ्रष्टाचार पर बड़े-बड़े भाषण देते हैं, लेकिन उन्हें छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री का भ्रष्टाचार नहीं दिखता। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का नाम पनामा पेपर्स मामले में आया था, उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। छत्तीसगढ़ के सीएम रमन सिंह के परिवार के लोगों का नाम भी इसमें आया था लेकिन उन्होंने अभी तक इस्तीफा नहीं दिया।

loading...