सुरक्षा पर IISSM का वार्षिक वैश्विक सम्मेलन गुरुवार से, सुरेश प्रभु करेंगे उद्घाटन

नई दिल्ली : व्यवसाय, उद्योग एवं अन्य वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों में बेहतर सुरक्षा एवं बचाव जैसे विषयों को ध्यान में रखते हुए 29 व 30 नवंबर को इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ सिक्योरिटी एंड सेफ्टी मैनेजमेंट (आईआईएसएसएम) का 28वां वार्षिक वैश्विक सम्मेलन दिल्ली छावनी के मानेकशॉ केन्द्र में आयोजित होगा। इस दो दिवसीय सम्मेलन का उदघाटन केन्द्रीय मंत्री सुरेश प्रभु करेंगे जिसमें निजी सुरक्षा के साथ सरकारी एवं सैन्य संगठनों के प्रतिनिधि भाग लेंगे। सम्मेलन की जानकारी देते हुए आईआईएसएसएम फ़ाउंडेशन के कार्यकारी अध्यक्ष एवं सांसद आर.के. सिन्हा ने बताया कि पिछले 27 वर्षों से हर वर्ष आईआईएसएसएम के वार्षिक वैश्विक सम्मेलन आयोजन किया जा रहा है। इसमें देश एवं विदेश से सुरक्षा क्षेत्र से जुड़े पेशेवर, उद्यमी एवं विशेषज्ञ भाग लेंगे। इस बार भी विभिन्न मंत्रालयों के मंत्री विभिन्न विषयों पर अपने विचार रखेंगे। इसके अलावा इस बार निजी के साथ सरकारी संगठन भी कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे।

सिन्हा ने कहा कि पिछले कुछ सालों से प्रोफेशनल तरीके से आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम ने देश और विदेश के सुरक्षा, बचाव और क्षति बचाव पेशेवरों के बीच काफी लोकप्रियता हासिल की है। सम्मेलन में परंपरागत और समकालीन विषयों पर व्यापक चर्चायें आयोजित की जाती हैं। इसमें सोशल मीडिया और डेटा गोपनीयता से जुड़ी चुनौतियों, हेल्थकेयर, आतिथ्य और खुदरा क्षेत्र में विकास और स्मार्ट शहरों में सुरक्षा जरूरतें शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि आईआईएसएसएम के सम्मेलन में सुरक्षा एवं बचाव से जुड़े पेशेवरों के सीखने, उन्नयन और आत्म-नवीनीकरण के लिए उच्च मानदंडों वाले उपकरणों का उपयोग किया जाता है। सभी जानकारी इंटरैक्टिव पैनलिस्टों के माध्यम से दी जाती है। इसमें प्रतिभागियों को उस क्षेत्र से जुड़े विशेषज्ञों और देश-विदेश के प्रमुख वक्ताओं से चर्चा करने का अवसर मिलता है। इसके अतिरिक्त सम्मेलन में भारत और विदेश से आए पेशेवरों को अनौपचारिक तरीके से बैठक और बातचीत करने का अवसर मिलता है।

आईआईएसएसएम के अध्यक्ष एस.के. शर्मा ने बताया कि निजी सुरक्षा उद्योग प्राचीन काल से ही निरंतर चला आ रहा है। 1991 के बाद से देश में इस क्षेत्र में काफी तरक्की देखने को मिली है। इसमें आईआईएसएसएम की एक बड़ी भूमिका रही है। वहीं आईआईएसएसएम के महानिदेशक राजन के मेड़ेकर ने कार्यक्रम की रूपरेखा बताते हुए कहा कि सम्मेलन दो दिन 29 व 30 नवंबर को दिल्ली छावनी के मानेकशॉ केन्द्र में आयोजित किया जाएगा। कार्यक्रम का उदघाटन केन्द्रीय मंत्री सुरेश प्रभु 29 नवंबर सुबह 9 बजे करेंगे। इसके बाद विभिन्न सत्रों में केन्द्रीय मंत्री मनोज सिन्हा, जयंत सिन्हा, गिरीराज सिंह, केजे अल्फोंस, संतोष गंगवार, शिवप्रताप शुक्ला, डॉ. सत्यपाल सिंह, हंसराज गंगाराम अहीर कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। इसके अलावा नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत और टेलीकॉम सचिव अरुणा सुंदरराजन भी सत्रों को संबोधित करेंगे।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *