सर्वाधिक पदकों के लिए देश-विदेश की टीमों में रही होड़

अन्तर्राष्ट्रीय युवा गणितज्ञ सम्मेलन ‘आई.वाई.एम.सी.-2018’ का तीसरा दिन

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) द्वारा आयोजित चार दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय युवा गणितज्ञ सम्मेलन (आई.वाई.एम.सी.-2018) का तीसरा दिन बेहद दिलचस्प रहा। सी.एम.एस. कानपुर रोड ऑडिटोरियम में आज जहाँ एक ओर विभिन्न देशों से पधारे बाल गणितज्ञों ने जूनियर व सीनियर वर्ग की गणित क्विज प्रतियोगिता एवं रिले राउण्ड में अपनी गणित प्रतिभा का भरपूर प्रदर्शन किया तो वहीं दूसरी ओर मैथमेटिकल ड्रामा में प्रतिभागी छात्र टीमों ने अपनी कलात्मक प्रतिभा का दिलचस्प व ज्ञानवर्धक नजारा प्रस्तुत किया। सी.एम.एस. कानपुर रोड का विशाल परिसर आज ‘ग्लोबल विलेज’ का नजारा प्रस्तुत कर रहा था जहाँ 16 देशों बांग्लादेश, ब्राजील, भूटान, इण्डोनेशिया, नेपाल, फिलीपीन्स, रूस, ताईवान, थाईलैण्ड, यू.ए.ई., अमेरिका, ईरान, श्रीलंका, साउथ अफ्रीका, वियतनाम एवं भारत के विभिन्न प्रान्तों के लगभग 700 बाल गणितज्ञ गणित की विभिन्न विधाओं में अपने ज्ञान का प्रदर्शन कर रहे हैं।

आई.वाई.एम.सी.-2018 के अन्तर्गत प्रतियोगिताओं का सिलसिला साल्व-ए-थॉन (गणित रिले राउण्ड) प्रतियोगिता से हुआ। इस प्रतियोगिता के अन्तर्गत प्रतिभागी छात्रों को 3-3 की कतारों में एक के पीछे एक बैठाया गया। एक टीम के तीन प्रतिभागियों को अलग-अलग प्रश्न दिए गये। पहले प्रश्न के उत्तर से ही दूसरे प्रश्न का उत्तर निकालना सम्भव था और दूसरे प्रश्न के उत्तर से ही तीसरे प्रश्न का हल खोजा जा सकता था। बड़ी उत्सुकता से प्रतिभागी छात्रों ने इस प्रतियोगिता में प्रतिभाग किया और अपने अन्दर छिपी गणित की समझबूझ का उपयोग करते हुए कड़ी प्रतिस्पर्धा की।  इसके अलावा, गणित क्विज प्रतियोगिता (बिंगो) आज के प्रमुख आकर्षण में रही। यह प्रतियोगिता दो राउण्ड में आयोजित की गई जिसके अन्तर्गत लिखित प्रतियोगिता के उपरान्त कुल 8 टीमों को फाइनल क्विज हेतु चयनित किया गया। जूनियर वर्ग की क्विज प्रतियोगिता के फाइनल राउण्ड के लिए 8 टीमों ने अपना स्थान सुनिश्चित किया, इसी प्रकार सीनियर वर्ग की क्विज प्रतियोगिता के फाइनल राउण्ड में भी 8 टीमों ने जोरदार प्रतिभागिता की। इस प्रतियोगिता में गणित की विभिन्न शाखाओं से प्रश्न पूछे गये। अंकगणित, बीजगणित, रेखागणित व गणित की अन्य शाखाओं में छात्रों का ज्ञान देखते ही बनता था व पूछे गये प्रश्नों का बिजली की गति से त्वरित उत्तर देकर छात्रों ने अपनी दक्षता सिद्ध कर दी। प्रतियोगिता का संचालन क्विज मास्टर साद उस्मानी ने किया।

अपरान्हः सत्र में आयोजित मैथमेटिकल ड्रामा (मॉडस ओपेरा) का दिलचस्प नजारा इस अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन का एक यादगार अवसर था जिसमें देश-विदेश की कई प्रतिभागी टीमों ने अपने गणित ज्ञान व कलात्मक प्रतिभा का शानदार उदाहरण प्रस्तुत किया। दर्शकों में भी इस अनूठे आयोजन के लिए विशेष उत्साह था एवं सभी ने छात्रों की कलात्मक प्रतिभा, रचनात्मक सोच व गणित विषय को आसान तरीके से समझने-समझाने व सभी के लिए रूचिपूर्ण बनाने के प्रयासों की भूरि-भूरि प्रशंसा की।  सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी हरि ओम शर्मा ने बताया कि अन्तर्राष्ट्रीय युवा गणितज्ञ सम्मेलन कल सम्पन्न हो रहा है। कल 5 दिसम्बर, बुधवार को अपरान्हः 2.00 बजे आई.वाई.एम.सी.-2018 का ‘‘समापन एवं पुरस्कार वितरण’’ समारोह सी.एम.एस. कानपुर रोड में आयोजित हो रहा है जिसमें देश-विदेश के विजयी प्रतिभागियों को पुरष्कृत कर सम्मानित किया जायेगा। इस अवसर पर आलोक सिन्हा, आई.ए.एस., मुख्य अतिथि के रूप में पधारकर विजयी छात्रों को पुरष्कृत कर सम्मानित करेंगे तथापि सी.एम.एस. छात्र देश-विदेश से पधारे बाल गणितज्ञों व प्रख्यात गणित विशेषज्ञों के सम्मान में रंगारंग शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *