प्रधानमंत्री मोदी ने ली सांसदों की बैठक, दिये ये जरूरी सुझाव

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पंजाब, चंडीगढ़, हरियाणा, दिल्ली, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर के सांसदों के साथ बैठक की और इस पर जोर दिया कि वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) के तहत लाभ की श्रृंखला को आगे बढ़ाना जारी रखना चाहिए। प्रधानमंत्री निवास पर हुई यह बैठक भारतीय जनता पार्टी के सांसदों के साथ मोदी की छठी अनौपचारिक बैठक थी जिसके तहत पंजाब, चंडीगढ़, हरियाणा, दिल्ली, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर के सांसदों के साथ विचार-विमर्श किया। इस बैठक का संचालन संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने किया

जीएसटी के तहत लाभ की श्रृंखला आगे बढ़ाना रखें जारी
भाजपा के एक नेता ने बताया कि भाजपा सांसदों ने प्रधानमंत्री से अपने प्रदेश में हो रहे विकास के विभिन्न पहलुओं के सन्दर्भ में कहा कि सरकार पर जनता का भरोसा लगातार बढ़ रहा है। पीएम ने कहा कि जीएसटी के बारे में, जनता में एवं छोटे व्यापारियों में भी अधिक उत्साह दिख रहा है। जीएसटी के लाभ की श्रृंखला बरकरार रहे, यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पूरे देश में जीएसटी को अप्रत्याशित समर्थन और स्वीकृति मिल रही है। पीएम ने उपस्थित सांसदों से कहा कि वे यह सुनिश्चित करें कि वयस्क नागरिकों से जुड़ी सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ उन्हें मिल रहा है अथवा नहीं।

योजनाओं से लोगों के जीवन में आया गुणात्मक बदलाव
हिमालयी राज्यों में विकास की कई नई योजनायें लागू की गई हैं, जिससे लोगों के जीवन में गुणात्मक बदलाव आया है। इस सन्दर्भ में पीएम ने कहा कि पहाड़ी राज्यों में रोजगार एवं पर्यटन विकास के लिए बहुत बड़ी संभावनाएं उजागर हुई हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा और चंडीगढ़ केरोसीन-मुक्त होने से इसके आबंटन में हो रहा भ्रष्टाचार समाप्त हो गया है। मोदी ने कहा कि चंडीगढ़ और पुदुचेरी में पीडीएस प्रणाली बंद होने से गरीब लाभार्थी के खाते में पैसा सीधा जमा होता है, और उसे अपने आप बाजार से चीजें खरीदने का अधिकार मिला है। यह मॉडल अन्य प्रदेशों में भी लागू हो सकता है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की अनेक योजनाओं और कार्यक्रमों से जन-मन में इस सरकार के प्रति जो भरोसा बना है, एेसे में उसे और अधिक व्यापक स्तर पर ले जाने की जरूरत है।

 

loading...