बिजनौर : तीहरे हत्याकांड मेें आरोपी को मिली फांसी की सजा

बिजनौर। बिजनौर में संपत्ति विवाद के चलते अपने 2 भाइयों और बेटे को जिंदा जलाकर मारने के आरोपी इरफान को अदालत ने फांसी की सजा सुनाई है। इरफान ने 3 साल पहले घटना को अंजाम दिया था। उसने अपने सोते हुए दोनों भाई और बेटे पर ज्वलनशील पदार्थ डालकर उन्हें जिंदा जला दिया था।

नजीबाबाद के रहने वाले इरफान उर्फ इकबाल ने संपत्ति विवाद के चलते 5 अगस्त 2014 को प्रॉपर्टी में हिस्सा मांगने पर अपने सोते हुए दोनो भाई नौशाद और इरशाद के अलावा बेटे इस्लामुद्दीन को पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया था। जब वो रात को एक कमरे में सो रहे थे घटना को अंजाम देने के बाद इरफान फरार हो गया था। जांच के बाद मृतकों के अंतिम बयान के आधार पर पुलिस ने इरफान उर्फ इकबाल को गिरफ्तार कर लिया था।

सरकारी वकील संजीव वर्मा ने बताया कि इरफान ने दूसरी शादी कर ली थी। इसलिए उसका बेटा उसकी प्रॉपर्टी में हिस्सा मांग रहा था। जिसका सहयोग इरफान के दोनों भाई भी कर रहे थे। इसी रंजिश के चलते इरफान ने तीनों को जिंदा जलाकर मौत के घाट उतार दिया था।

उन्होंने बताया कि इरफान इससे पहले एक हत्या की घटना को अंजाम दे चुका। जिसके चलते ऐसी घटनाओं का आदि हो चुका था। इसीलिए अदालत ने घटना को अति गंभीर मानते हुए आरोपी को फांसी की सजा सुनाई और ज्वलनशील पदार्थ का इस्तेमाल करने पर 20 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है।

 

loading...