ओला- उबर से अलग, ‘रीगो’ टैक्सी ने यात्रा को किया सुरक्षित, गंतव्य तक यात्री रहेंगे लाइव

नई दिल्ली : देश में पहली बार लोगों को अपने गंतव्य तक सुरिक्षत यात्रा करने के लिए ‘रीगो’ टैक्सी ने अपनी शुरूआत कर दी है। ‘रीगो’ टैक्सी की सुविधा ओला- उबर की सेवा से बिल्कुल अलग और आधुनिक है जिसमें यात्रियों को यात्रा के समय लाइव देखा जा सकता है। इसके तहत महिला सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया गया है। वहीं यात्रा समय बदलने या फिर यात्रा रद्द करने पर यात्रियों को कोई अतिरिक्त शुल्क भी नहीं देना पड़ता है। फिलहाल ‘रीगो’ टैक्सी की सुविधा दिल्ली और एनसीआर में एक हजार ड्राइवरों के साथ पायलट के तौर पर शुरू की गई है जिसमें सीसी टीवी, जीपीआरएस व आपातकालीन सुरक्षा बटन आदि की सुविधा है। यात्रा के समय यात्री को किसी भी परेशानी की स्थिति में उस बटन का प्रयोग करने से उसकी सूचना पुलिस या फिर घर वालों को तुरंत पहुंच जाती है। वहीं यात्रा के समय यात्री को लाइव भी देखा जा सकता है कि आखिर वह कहां और किस स्थिति में है?

इससे पहले ‘रीगो’ टैक्सी की सेवाएं 2017 में कोलकाता और मुंबई में रेडियो आधारित और परंपरागत ब्लैक व यलो टैक्सी के रूप में सफलतापूर्वक लांच हो चुकी हैं। अगले 3 महीनों में कंपनी का दिल्ली में 30 हजार से ज्यादा वाहनों को रेलवे व अन्य जगहों पर सेवा उपलब्ध कराने के प्रयास शुरू हैं। इस संबंध में ‘रीगो’ टैक्सी के सीईओ कुलदीप सेंगर का कहना है कि 2016 में उन्होंने तकनीक आधारित इस टैक्सी सेवा की शुरुआत की थी। उनका मकसद यात्रियों को सुरक्षित व सस्ती ट्रांसपोर्ट सेवा को आसान और सुविधाजनक तरीके से उपलब्ध कराना है। उनका कहना है कि इस टैक्सी सेवा में ग्राहकों को चौबीसो घंटे व सातों दिन के लिए एक हेल्पलाइन नंबर दिया गया है। यात्रा सुरक्षित बनाने के लिए वाहन में सीसीटीवी लगाए गए हैं जिससे ग्राहक अपनी यात्रा की लाइव स्ट्रीमिंग कर सकते हैं।

loading...