बेबी फ्रेंडली मोबाइल एप से होगी ब्रेस्टफीडिंग की मानीटरिंग

प्रदेश सरकार ने बेबी फ्रेंडली मोबाइल एप किया लांच,

प्रतिदिन एक बच्चे का डाटा करना होगा फीड

बाराबंकी । मोबाइल एप से अब ब्रेस्टफीडिंग की मानीटरिंग होगी। प्रदेश सरकार ने बेबी फ्रेंडली एप को लांच कर दिया है। क्वालिटी एश्योरेंस मैनेजर (क्यूएएम) या नर्स प्रसव सेंटर जाकर रोजना एक नवजात शिशु के स्तनपान का डाटा फीड करेंगे। प्रसव केन्द्र प्रभारी भी बच्चे को कराये गये स्तनपान का डाटा शासन को भेजेंगे। सेंटर व प्रभारी के डाटा का मिलान किया जायेगा। यदि डाटा भेजने में गड़बड़ी मिलती है तो जिम्मेदार लोगों पर शासन कार्रवाई करेगा।

वर्ष 2015-2016 में एनएफएचएस -4 के अनुसार प्रदेश में संस्थागत प्रसव का दर 68 प्रतिशत है। शिशु के स्वास्थ्य के दृष्टिगत एक घंटे के अंदर स्तनपान आरम्भ किया जाना चाहिए। किन्तु प्रदेश में एक घंटे के भीतर शिशु को स्तनपान कराने की दर 25 प्रतिशत है। पहली अगस्त से विश्व स्तपान सप्ताह चल रहा है। सभी जनपदों में प्रसूता व उनके परिजनों को बच्चे की बेहतर सेहत के लिए जन्म से एक घंटे के बाद से ही स्तनपान कराने के प्रति जागरूक किया जा रहा है। मां के दूध से बच्चों को मिलने वाले फायदे बताने के लिए गोष्ठी, प्रतियोगिता इत्यादि कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं। अब प्रदेश सरकार ने इसकी निगरानी के लिए मोबाइल एप शुरू किया है।

मोबाइल में ऐसे फीड होगा डाटा

मोबाइल में कुल 18 बिन्दुओं पर डाटा फीड किया जायेगा। जिला हॉस्पिटल क्वालिटी मैनेजर डा पंकज मौर्या ने बताया कि मंडल, जिला व क्वालिटी एश्योरेंस, मैनेजर, नर्स मेंटर का नाम, विजिट की तारीफ, समय, प्रसव का समय व प्रकार, बच्चे का वजन, कंगारु मदर केयर, विटामिन के 1, म्यूकस, नाल काटने का समय, प्रसूता के साथ अन्य रिश्ेतारों की जानकारी, बच्चे ने कब स्तनपान शुरू किया, स्तनपान की शुरूआत लेबर रुम, पीएमसी व केएमएसी कहां पर हुई, आशा व स्टाफ नर्स द्वारा क्या सहायता प्रदान की गयी। यह सारी जानकारी एप में फीड की जायेगी। माह के अंत में चेकलिस्ट के आधार पर आंकलन किया जायेगा कि किस इकाई को बेबी फ्रेंडली स्कोर कितना है। सारा आंकलन क्वालिटी एश्योरंस के माध्यम से किया जायेगा। किसी भी चिकित्सा इकाई को बेबी फ्रेंडली घोषित करने से पहले तीन माह तक न्यूनतम 80 प्रतिशत अंक लाना होगा। इसके बाद ही वह बेबी फ्रेंडली घोषित होगा।

80 प्रतिशत अंक प्राप्त करना होगा

साथ ही माह के अंत में एक चेकलिस्ट के आधार पर इस बेबी फ्रेंडली तथ्य का आंकलन किया जायेगा की किस इकाई का बेबी फ्रेंडली स्कोर कितना है। आंकलन का कार्य क्वालिटी एश्योरन्स के माध्यम से किया जायेगा। किसी भी चिकित्सा इकाईयों को बेबी फ्रेंडली घोषित करने से पहले काम से काम 3 माह तक उसे 80 प्रतिशत अंक प्राप्त करना होगा।

loading...