अभियान चलाकर खोजे जायेंगे गैर संचारी रोग के मरीज

घर बैठे होगी डायबिटीज, कैंसर, हाइपरटेंशन की स्क्रीनिंग

 बाराबंकी । गैर संचारी रोगों को लेकर स्वास्थ्य विभाग गंभीर है। बीमारियां पहले 40 से 50 वर्ष के बीच के लोगों में होती थी, वह अब 30 वर्ष के उम्र में ही लोगों को अपने चपेट में ले रही हैं। इसमें 30 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों पर फोकस होगा। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन जिले में 16 जनवरी से 15 फरवरी तक गैर संचारी रोगों की पहचान के लिए अभियान चलाएगा। अभियान के जिले के करीब 1.48 लाख लोगों की स्क्रीनिंग की जायेगी। चयनित उपकेंद्र, पीएचसी, साथ हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर आने वाले मरीजों की स्क्रीनिग होगी।

जिला समुदाय प्रक्रिया प्रबंधक (डीसीपीएम) सुरेन्द्र कुमार ने बताया जिले में गैर संचारी रोगों को लेकर लोगों को जागरूक करने, बचाव व उपचार के साथ स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से गैर संचारी रोग प्रकोष्ठ (एनसीडी कार्यक्रम) के तहत  गैर संचारी रोग स्क्रीनिंग अभियान चलेगा। जिले में लगभग 1 लाख 48 हजार 615 लोगों की स्क्रीनिंग का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसकी जिम्मेदारी प्रशिक्षित चिकित्सक, एएनएम तथा आशा कार्यकर्ताओं को सौंपी गई है।

डीसीपीएम ने बताया यह अभियान ग्रामीण क्षेत्र के उपकेंद्रों, पीएचसी, शहरी पीएचसी व हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर चलेगा।अभियान के समय समुदाय आधारित मूल्यांकन प्रपत्र (सीबैक फॉर्म) भरा जाएगा, जिसे भरने के बाद सीएचओ या एएनएम के पास जमा कर पोर्टल पर अपलोड की जाएगी। जरूरत पड़ने पर सीएचओ व एएनएम ग्रामीण अंचल के दूरस्थ केंद्रों पर भी स्क्रीनिग के लिए शिविर का आयोजन करेंगे।

कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ.महेन्द्र कुमार ने बताया गैर संचारी रोगों में (डायबिटीज, हाइपरटेंशन, कैंसर एवं लकवा समेंत आदि) के नियंत्रण के लिए स्क्रीनिंग को बेहद जरूरी है। अभियान के दौरान आशा कार्यकर्ताओं द्वारा अपने कार्य क्षेत्र के सभी घरों का भ्रमण कर परिवार फोल्डर बनाया जाएगा। 30 साल से अधिक आयु वर्ग के पुरुषों और महिलाओं का सी बैक फार्म भरा जाएगा। इस फार्म को कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर या एएनएम के पास जमा किया जाएगा। एक माह तक चलने वाले इस अभियान की समीक्षा जिलाधिकारी प्रत्येक सप्ताह करेंगे।

डीपीएम अम्बरीश द्विवदी ने बताया अब गांव के लोगों को घर बैठे कैंसर, हाइपरटेंशन, डायबिटीज जैसी बीमारियों का इलाज मिलेगा। हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर सुबह नौ बजे से शाम चार बजे तक स्वास्थ्य सेवाएं मिलेंगी। उन्होंने बताया कि जिले में जो केंद्र संचालित हैं उनमें 30 सबसेंटर जिनको हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर बनाया गया है, एक नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और 21 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में अभियान चलेगा।

loading...