दिल्ली वालों की मेहनत का मजाक उड़ा रहे हैं अमित शाह: केजरीवाल

गाजियाबाद। आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने गृह मंत्री अमित शाह को उनके उनके बयान को लेकर निशाने पर लिया है। केजरीवाल ने रविवार को विडियो संदेश जारी आरोप लगाते हुए कहा कि मैं पिछले कुछ दिनों से देख रहा हूं कि अमित शाह रोज आते हैं और अपने चुनाव प्रचार में दिल्ली के लोगों का अपमान करके चले जाते हैं। यह तो ठीक नहीं है। पिछले पांच साल में दिल्ली के लोगों ने खूब मेहनत करके अपनी दिल्ली को संवारा है। दिल्ली के 2 करोड़ लोगों ने मिल कर अपने स्कूल, अस्पताल, बिजली-पानी ठीक किए हैं, लेकिन वह रोज आते हैं और दिल्ली वालों की पांच साल की मेहनत का मजाक उड़ा कर चले जाते हैं।

केजरीवाल ने अमित शाह के पिछले बयान का हवाला देते हुए कहा कि कुछ दिन पहले वह आए और बोले कि दिल्ली में एक भी सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा। अगले दिन वहां के लोगों ने उनको उनके ही भाषण की सीसीटीवी की रिकॉर्डिंग भेज दी। लोग बोले, सर, जहां आप ये भाषण दे रहे थे, उसके ऊपर ही आसपास कई सीसीटीवी कैमरे लगे थे। दिल्ली वालों ने अभी तक दो लाख कैमरे लगाए हैं। आपने दिल्ली में कितने कैमरे लगाए? एक भी नहीं न? अगर दिल्ली वालों का मजाक उड़ाने की बजाय आपकी केंद्र सरकार भी कुछ कैमरे लगवा देती तो ज्यादा बेहतर होता।

इस विडियो में केजरीवाल ने दिल्ली सकरार के शिक्षा के क्षेत्र में हासिल की गई उपलब्धियों का बयान किया। उन्होंने कहा इस साल दिल्ली के सरकारी स्कूलों के नतीजे 96 पर्सेंट आए हैं। इसके लिए हमारे दिल्ली के 16 लाख बच्चों ने खूब मेहनत की। इन बच्चों के माता-पिता ने दिन-रात बच्चों के साथ मेहनत की। दिल्ली सरकार के 65 हजार टीचर्स ने बच्चों पर कड़ी मेहनत की। भारत के इतिहास में कभी किसी राज्य के सरकारी स्कूलों का 96 पर्सेंट नतीजे नहीं आए। देश के दूसरे राज्य ले लीजिए, कहीं 40 पर्सेंट नतीजे आते हैं, कहीं 50 पर्सेंट नतीजे आते हैं। दिल्ली के लोगों को अपने बच्चों की कामयाबी पर गर्व है। उन्होंने कहा कि आपको पता है पिछले कुछ सालों से हर साल दिल्ली के सरकारी स्कूलों के 400 से ज्यादा बच्चे IIT का एंट्रेंस एग्जाम पास कर रहे हैं।

स्कूलों पर केजरीवाल का जवाब
केजरीवाल ने कहा कि अच्छी राजनीति तो यह होती कि आप दिल्ली के लोगों से सीख कर यूपी और हरियाणा के भी स्कूल ठीक करते। और दूर क्यों जाना, आप एमसीडी के ही स्कूल ठीक कर दीजिए। एमसीडी में तो बीजेपी का राज है। तब तो आपकी महानता होगी। दिल्ली वालों की मेहनत का मजाक उड़ाना गृह मंत्री को शोभा नहीं देता। आप थोड़ा समय निकालिए। मैं खुद आपको कुछ स्कूलों में लेकर चलता हूं, आपको हमारे बच्चों से मिलवाता हूं, क्या कॉन्फिडेंस आ गया हमारे बच्चों में। चलिए मैं आपको इन बच्चों के पैरंट्स से मिलवाता हूं, इनके टीचर से मिलवाता हूं। मैं आपको यकीन दिलाता हूं कि आपको इनसे मिलकर बहुत अच्छा लगेगा। आपकी निगेटिविटी थोड़ी कम होगी। आपको खूब पॉजिटिव एनर्जी मिलेगी। दिल्ली के हम 2 करोड़ लोग एक परिवार की तरह हैं। चाहे किसी भी पार्टी के क्यों न हों। एक दूसरे के सुख दुःख में काम आते हैं। हम सब मिलकर दिल्ली संवारते हैं। मैं उम्मीद करता हूं अब आगे आप दिल्ली वालों की मेहनत और उपलब्धियों का अपमान नहीं करेंगे।

loading...