ड्रैगन भड़का- लगातार दूसरे दिन चाइनीज एयरस्पेस में घुसे अमेरिकी जासूसी विमान

बीजिंग |अमेरिका और चीन के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया है। लगातार दूसरे दिन अमेरिका के जासूसी विमान चीनी एयरस्पेस में घुस गए जहां पीएलए सैनिक लाइव फायर मिलिट्री एक्सरसाइज में जुटे हैं। चीन ने इसे उकसावे की कार्रवाई बताते हुए कहा है कि इससे गलतफहमी और दुर्घटना हो सकती है। बुधवार को घुसे अमेरिकी विमान को लेकर चीन की धमकियों को दरकिनार करते हुए लगातार दूसरे दिन टोही विमान साउथ चाइना सी के ऊपर उड़े।

बीजिंग के पूर्व में बोहाई खाड़ी में पीपल्स लिब्रेशन आर्मी (पीएलए) का सैन्य अभ्यास चल रहा है। मंगलवार को एक U-2 टोही विमान चीन के हवाई क्षेत्र में घुसते हुए ऊपर से गुजरा। बुधवार को US RC-135S टोही विमान दक्षिण चीन सागर के ऊपर से उड़ा जहां पीएलए दूसरा अभ्यास चल रहा है।

अमेरिकी एयरक्राफ्ट ने बाशी चैनल को पूर्व से पार किया और दक्षिणपूर्व की ओर बढ़ा और उसी रूट पर वापस भी आया। बीजिंग बेस्ड थिंक टैंक साउथ चाइना सी प्रोबिंग इनिशिटिव (SCSPI) ने बुधवार को यह जानकारी दी। चाइना की सरकारी मीडिया ने SCSPI के हवाले से कहा, ”यह हैनान आइलैंड के दक्षिण पूर्व तट के पास पीएलए के मौजूदा अभ्यास के नजदीक आया।”

चाइनीज विदेश और रक्षा मंत्रालय टोही विमान को लेकर अमेरिका पर जमकर बरसे। विदेश मंत्रालय ने आधिकारिक रूप से आपत्ति दर्ज कराई है। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता वू कियान ने कहा कि इस उल्लंघन ने चीनी सेना के सामान्य सैन्य अभ्यास और ट्रेनिंग गतिविधियों को प्रभावित किया है। इसने अमेरिका और चीन के बीच वायु और जलीय सुरक्षा नियमों का उल्लंघन किया है। साथ ही अंतरराष्ट्रीय नियमों और आचरण के खिलाफ है।

वू ने कहा, ”अमेरिका की कार्रवाई का परिणाम गलतफहमी और दुर्घटना के रूप में हो सकता था।” चाइनीज मीडिया ने कहा है कि पूर्व में सीमा उल्लंघन को लेकर पीएलए ने कम से कम पांच U-2 एयरक्राफ्ट को मार गिराया है। चीनी सेना इस समय तीन अलग-अलग समुद्रों में एक साथ सैन्य अभ्यास कर रही है।

loading...