ड्रैगन की फिर सीनाजोरी, कहा- भारत ने की LAC पर उकसाने वाली कार्रवाई

बीजिंग। पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर जहां एक तरफ चीन पीछे हटने को तैयार नहीं है और घुसपैठ की नाकाम कोशिश कर रहा है, दूसरी तरफ उल्टा वह भारत के ऊपर ही आरोप मढ़ रहा है। चीन के विदेश मंत्रालय ने बुधवार को कहा, भारतीय सेना की तरफ से बयान देकर यह स्वीकार करना कि उन्होंने चीनी सेना की गतिविधियों से पहले कार्रवाई की, यह साबित करता है कि उसने उकसावेपूर्ण कार्रवाई कर सीमा पार किया।

इसके साथ ही, बीजिंग ने उल्टा पहले एकतरफा वस्तुस्थिति को बदलने और दोनों देशों की बीच बनी महत्वपूर्ण सहमति के उल्लंघन का भी आरोप लगा दिया।उसने कहा कि इस साल की शुरुआत से ही भारतीय पक्ष लगातार द्विपक्षीय समझौते और भारत-चीन सीमा पर वेस्टर्न सेक्शन को लेकर बनी महत्वपूर्ण सहमतियों का उल्लंघन कर रहा है। इसके साथ ही उसने आरोप लगाया कि सीमाई इलाकों में भारत ने शांति और स्थिरता को कमजोर किया है, जिसकी वजह से सीमा पर तनाव के हालात पैदा हुए हैं।

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बुधवार को मीडिया ब्रीफिंग के दौरान कहा, भारतीय पक्ष पर पूरी जिम्मेदारी है। चीन की तरफ से तनावपूर्ण स्थिति को रोकने के लिए संयम बरता जा रहा है। हुआ ने आगे कहा कि दोनों पक्ष सैन्य और कूटनीतिक चैनलों के माध्यम से बातचीत जारी रखे हुएजुड़े मेजबान लोउ डॉब्स के एक सवाल के जवाब में अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा, ‘इसलिए, चाहे वह भारत में हमारे दोस्त हों, ऑस्ट्रेलिया में हमारे दोस्त हों, जापान या दक्षिण कोरिया में हमारे दोस्त हों, वो सभी अपने लोगों, अपने देश को होने वाले खतरे देख रहे हैं और आप उन्हें (चीन को) पीछे धकेलने के लिए अमेरिका के साथ साझेदारी करते हुए देखेंगे, हर उस मोर्चे पर जिसके बारे में हमनें आज शाम बात की।’
हैं।

loading...