23 अक्टूबर तक चलेगा फिट हेल्थ वर्कर अभियान, अब तक 245 कर्मियों की जांच

बाराबंकी। कोरोना संक्रमण से मोर्चा लेने वाले स्वास्थ्य विभाग के फ्रंट लाइन वर्करों का ‘फिट हेल्थ वर्कर अभियान’ के तहत स्वास्थ्य परीक्षण शुरू किया गया है। यह अभियान 23 अक्टूबर तक चलेगा। जिसमें जिला अस्पताल, समस्त सब सेंटर, सीएचसी, पीएचसी स्तर पर फ्रंट लाइन वर्करों की सेहत की जांच की जा रही है। इसके तहत पहचान कर कार्यकर्ताओ का इलाज किया जायेगा। अब तक जिले के 245 कार्यकर्ताओं के रूटीन जांच की जा चुकी है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.वीएस चौहान ने बताया कि स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं एवं कर्मियों के बेहतर स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने “फिट स्वास्थ्य कार्यकर्ता अभियान” शुरू करने की योजना बनाई है इसके तहत शहरी एवं ग्रामीण इलाकों के डाक्टरों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा बहू, आशा संगिनी, एएनएम, एमपीडब्ल्यू, सीएचओ, लैब टेक्नीशियन एवं  सफाई कर्मियों की जो सीधे तौर पर कोरोना संक्रमण का सामना करते हुए अपनी ड्यूटी कर रहे हैं। उनकी स्वास्थ्य की रूटीन जांच हो रही है। सीएमओ की ओर से उक्त कैंपेन को सफल बनाने के लिए एसीएमओ एवं नोडल अधिकारी (आरसीएच) डा सतीश चंद्रा के साथ क्षेत्रीय नोडल अधिकारी को जिम्मेदारी सौपी गई है।। यह अभियान जिले में  गांधी जयंती 2 अक्टूबर से 23 अक्टूबर तक चलाया जा रहा है।

जिला सामुदायिक कार्यक्रम प्रबंधक (डीसीपीएम) सुरेन्द्र कुमार ने  बताया कि जनपद में 23 अक्टूबर तक चलने वाले फिट हेल्थ वर्कर अभियान की शुरुआत हो चुकी है। अब तक जिले में 245 फ्रंट लाइन वर्करों के स्वास्थ्य की जांच की गई। उन्होने बताया  इस अभियान के तहत सामान्य एनसीडी स्क्रीनिंग जैसे- उच्च रक्तचाप, मधुमेह एवं तीनों प्रकार के सामान्य कैंसर ओरल कैविटी, ब्रेस्ट एवं क्रेविक्स की जांच की जाएगी। जांच शिविर में प्रतिनिधि चिकित्सा पदाधिकारियों दंत चिकित्सक सहित पारा मेडिकल कर्मियों को अपने-अपने ड्रेस कोड में अनिवार्य रूप से उपस्थित रहना होगा।

सीएचओ महोलिया देवा ब्लॉक की रोमा और बजगंहनी निंदुरा ब्लॉक ने फिट कैंपेन को लेकर खुशियां जाहिर करते हुए कोरोना के दौरान फ्रंट लाइन वर्करों के लिए ऐसे कैंपेन का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि  इस अभियान के जानकारी पर सभी कार्यकर्ता काफी खुश हैं।

फिट कैंपेन में स्वास्थ्य कार्मियों को किया जायेगा प्रेरित

बैनर पोस्टर के माध्यम से चलेगा जागरुकता अभियान। इस कैंपेन को सफल बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा बैनर पोस्टर के माध्यम से जागरूक किया जाएगा। सभी स्वास्थ्य संस्थानों पर रंगीन फ्लेक्स बोर्ड लगाकर कार्यक्रम की जानकारी दी जाएगी तथा जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। इस दौरान सभी स्वास्थ्य कर्मियों को अपना स्वास्थ्य जांच कराने के लिए प्रेरित भी किया जाएगा।

loading...