अर्जुन रामपाल की बढ़ी मुश्किलें, जल्द हो सकते हैं गिरफ्तार…

मनाेरंजन डेक्स। ड्रग्स मामले में बॉलीवुड एक्टर अर्जुन रामपाल की मुश्क‍िलें बढ़ सकती है. 21 दिसंबर को अर्जुन रामपाल एनसीबी के सामने दोबारा पेश हुए हैं. आज उनसे ड्रग्स मामले में सवाल किए जांगे. मामले में एनसीबी ने दिल्ली के एक डॉक्टर का बयान लिया है. डॉक्टर का बयान एनसीबी ने अदालत में 164 के तहत मजिस्ट्रेट के सामने भी करवाया है. डॉक्टर का यह बयान अर्जुन की गिरफ्तारी की ओर भी केस को मोड़ सकता है.

इस मामले में डॉक्टर ने कहा- मैटर अभी सबजुडिस है, इसलिए उससे जुड़ी डिटेल मैं आप से शेयर नहीं कर सकता. लेकिन जो भी जरूरी बातें हैं मैंने एनसीबी को बता दी है और मजिस्ट्रेट के सामने अपना बयान दे दिया है. मैं एनसीबी को सहयोग करूंगा. सूत्रों के मुताबिक मुंबई के भी एक डॉक्टर का बयान एनसीबी ने लिया है. सूत्र की मानें तो अर्जुन रामपाल के एक करीबी ने दिल्ली एक डॉक्टर को गुमराह करके बैक डेट में डॉक्टर से प्रिस्क्रिप्शन लिखवाए ताकि एनसीबी की जांच से बचा जा सके.

सूत्रों के मुताबिक जिस दवा का प्रिस्क्रिप्शन अर्जुन रामपाल के करीबी ने लिखवाया था वो प्रिस्क्रिप्शन एनसीबी के सामने अर्जुन रामपाल की तरफ से रखा गया था. एसनीबी को शक होने पर डॉक्टर से पूछताछ की गई और फिर बयान रिकॉर्ड किया गया. दरअसल अर्जुन रामपाल के घर छापेमारी के दौरान मेडिसिन बरामद हुई थी जो NDPS एक्ट में तहत आती है. वो दवा NDPS एक्ट के शेड्यूल एच (H)में आती है जिसके लिए डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन की जरूरत होती है. सूत्रों के मुताबिक इसके लिए डॉक्टर्स को भी अंधेरे में रखा गया था.

अर्जुन के घर से बरामद हुई थी ये दवा

अर्जुन रामपाल के घर 9 नवंबर को छापेमारी की गई थी. इस छापेमारी में उनके घर से ट्रैमाडॉल टैब्लेट्स बरामद की गई थी. इसके बाद अर्जुन की लिव इन पार्टनर गैब्रिएला डिमिट्र‍िएड्स से दो बार पूछताछ की गई थी, वहीं अर्जुन 13 नवंबर को एनसीबी के सामने पहली बार पेश हुए थे. ड्रग्स केस के दो मामलों में एनसीबी ने गैब्रिएला के भाई Agisialis Demetriades को पहले ही गिरफ्तार किया था. हाल ही में उन्हें जमानत पर छोड़ा गया है.

loading...