कोरोना वैक्सीन के ड्राई रन का जायजा लेने पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री

बाराबंकी। प्रदेश के साथ ही बाराबंकी जिले में कोरोना महामारी के खिलाफ निर्णायक जंग लड़ने की तैयारियां अंतिम दौर में पहुंच चुकी है। वैक्सीन को लेकर सभी तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई है। जिले के छह अस्पतालों में ड्राई रन कराया गया। यहां पर एक साथ करीब 50 लोगों को टीकाकरण के लिए बुलाया गया। स्वास्थ्य कर्मियों को टीकाकरण के दौरान कौन-कौन सी सावधानियां बरतनी होगी, उसके बारे में रिहर्सल कराया गया। जैसेकि अगर टीकाकरण के बाद किसी की हालत बिगड़ती है तो उसका कैसे उपचार किया जाना है इसका भी रिहर्सल किया गया। इस दौरान उन्होंने इसकी कई बारीकी भी सीखी, वही जनपद में कोरोना टीकाकरण  के ड्राई रन के रिहर्सल को देखने के लिए खुद प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह पहुंचे।

इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार इसको लेकर बेहद गंभीर है स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि जब केंद्र सरकार द्वारा तारीख तय हो जाएगी तो कंपनी कोरोना वैक्सीन की सप्लाई पूरे देश में करना शुरू करेगी।

इन अस्पतालों में हुआ ड्राई रन-

कोरोना टीकाकरण के ड्राई रन के लिए शहरी क्षेत्र में जिला महिला अस्पताल, हिंद अस्पताल सफेदाबाद और मेवा अस्पताल गदिया के साथ ही ग्रामीण क्षेत्र के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र देवा, बड़ागांव और सतरिख को चुना गया। कोरोना वैक्सीन के लिए इन अस्पतालों में 12 टीमों को लगाया गया। इसके अलावा यहां पर 24 पुलिसकर्मी और 24 ऑब्जर्वर भी तैनात किए गए। दो चिकित्सकों के नेतृत्व में एक मेडिकल टीम भी बनाई गई।

जल्द शुरू होगा वैक्सीनेशन-

ड्राई रन देखने के बाद स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि जब केंद्र सरकार द्वारा तारीख तय हो जाएगी, तो कंपनी कोरोना वैक्सीन की सप्लाई पूरे देश में करना शुरू करेगी। उन्होंने बताया कि पहले चरण में हेल्थ वर्करों को वैक्सीन लगाई जाएगी। उसके बाद फ्रंटलाइन वर्कर फिर तीसरे चरण में 50 साल से ऊपर वाली जनता को वैक्सीन लगाई जाएगी। वही टीकाकरण पर हो रही राजनीति को लेकर मंत्री ने कहा कि अगर वैज्ञानिक कोई वैक्सीन निर्मित करता है तो उस पर कोई टिप्पणी नहीं की जानी चाहिए। आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत पहली देश ने अपना खुद का वैक्सीन डिवेलप किया है जिसकी मान्यता पूरे विश्व में है तो इस पर राजनीति नहीं की जानी चाहिए, ना ही इसे लेकर कोई अफवाह फैलानी चाहिए।

loading...