इस अधिकारी ने किया खुले में शौच, कटा 5000

हरिद्वार। उत्तराखंड के हरिद्वार में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्व‘छता अभियान एवं खुले में शौचमुक्त का जिम्मा जिन अधिकारियों को दिया गया है उनमें से एक अधिकारी उसकी अवहेलना करता हुआ पाया गया। यह अधिकारी खुले में शौच करता पाया गया।

मामला जिलाधिकारी के संज्ञान में आया तो उक्त अधिकारी पर जुर्माना लगाया गया। कलेक्ट्रेट कार्यालय रोशनाबाद, हरिद्वार के सार्वजनिक स्थान पर अवर अभियन्ता, नगर पालिका परिषद मंगलौर, जगदीश प्रसाद को खुले में शौच करते हुए पाया गया।

इस संबंध में जिलाधिकारी दीपक रावत ने खुले में शौच करने का दोषी मानते हुए स्व‘छ भारत मिशन के तहत उनके वेतन से 5000 रुपए की कटौती करते हुए राजकीय कोष में जमा किए जाने के आदेश अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद, मंगलौर को दिए।

इसके अतिरिक्त अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद, मंगलौर को यह भी निर्देश दिए कि अवर अभियंता, नगर पालिका परिषद मंगलौर, जगदीश प्रसाद के वेतन आदि से 5000 रुपए की कटौती राजकीय कोष में जमा कराकर, इसकी सूचना जिलाधिकारी महोदय को तत्काल प्रेषित करना सुनिश्चित करें।

यदि उक्त आदेशों का अनुपालन अर्थात वेतन आदि बिना अर्थदण्ड की कटौती के आहरित किया जाता है तो अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद, मंगलौर के विरुद्ध भी नियमानुसार अनुशासनात्मक कार्यवाही अमल में लाई जा सकती है।

 

loading...