गुरेज पहुंचे PM मोदी : जवानों के साथ मनायेंगे दीवाली मनाने

श्रीनगर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जम्मू-कश्मीर में अग्रिम चौकियों पर जवानों के साथ दीवाली मनाने के लिए गुरेज सेक्टर पहुंच गए हैं। गुरेज सेक्टर प्रदेश में नियंत्रण रेखा के समीप स्थित है। सेना ने यह जानकारी दी। सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत, उत्तरी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अनबू और चिनार कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल जे एस संधु भी प्रधानमंत्री के साथ गुरेज सेक्टर पहुंचे। प्रधानमंत्री मोदी ने कश्मीर घाटी में वर्ष साल 2014 में आई भीषण बाढ़ के बाद भी घाटी के लोगों के साथ ही दीवाली मनाई थी। वे पीएम बनने के बाद हर साल जवानों के साथ दिवाली मना रहे हैं।

केदारनाथ भी जाएंगे मोदी
पीएम 20 अक्तूबर को देहरादून के जॉलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचेंगे, जहां से वो MI-17 हेलिकॉप्टर से सीधे बाबा केदार के धाम जाएंगे। बाबा केदार के दर्शन करने के बाद वह नई केदारपुरी को नए अंदाज में विकसित करने को लेकर कई योजनाओं का अनावरण करेंगे. इसके बाद पीएम मोदी 10:40 बजे पर केदारनाथ में ही एक जनसभा को संबोधित करेंगे और फिर 11:40 बजे जॉलीग्रांट से दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे। बता दें कि इससे पहले वे केदारनाथ बाबा के कपाट खुलने पर दर्शनों के लिए गए थे और अब बाबा केदार के कपाट बंद होने के अवसर पर दर्शन के लिए केदारनाथ धाम पहुंच रहे हैं।

अमरीका की भारत से करीबी बढ़ाने का खुल गया राज
वाशिंगटनः बेशक अमरीका और भारत के बीच रिश्तों को नए आयाम मिलते जा रहे हैं लेकिन वैश्विक मंच पर च्रचा है कि आखिर अमरीका भारत के साथ क्यों निकटता बढ़ा रहा है। इस बारे में राजनितिक विशेषज्ञों की माने तो अमरीका की भारत से करीबी बढ़ाने का राज खुलता जा रहा है । सूत्रों की माने तो जहां आंतकवाद के पोषक पाकिस्तान पर लगाम कसने के लिए जहां अमरीका भारत की मदद चाहता है वहीं चीन से निपटने के लिए भी भारत से् करीबी बढ़ा रहा है।

गत दिनों राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा पाकिस्तान और अमरीका के बीच अच्छे हो रहे संबंध का जिक्र करते हुए किए गए ट्वीट के बाद अमरीका ने भारत को दोबारा भरोसे में लेने की कोशिश की है। अमरीकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने भारत को जहां अमरीका का भरोसमंद पार्टनर बताया वहीं विदेश मंत्री ने पाकि‍स्तान और चीन की खबर भी ली। टिलरसन ने कहा चीन का बर्ताव सही नहीं हैं और चीन के कदम अंतरराष्ट्रीय कानूनों, नियमों के लिए खतरा बन रहे हैं ।

अमरीकी विदेश मंत्री ने भारत के साथ सहयोग बढ़ाने के संकेत ऐसे समय में दिए हैं, जब चीन में सत्ताधारी वामपंथी पार्टी का अहम सम्मेलन चल रहा है। राष्ट्रपति ट्रंप अगले महीने अपनी पहली चीन यात्रा पर होंगे।ऐसे में इस यात्रा से पहले टिलरसन ने चीन के मुद्दे पर कहा, ”अमरीका ने एशिया में चीन के ढांचागत निवेश का विकल्प तलाशने पर चर्चा भी शुरू कर दी है।” टिलरसन ने आगे कहा, ”एशिया में चीन के नकारात्मक असर को देखते हुए अमरीका भारत को अहम सहयोगी के रूप में देख रहा है।”

 

loading...