आंगनबाड़ी कार्यकर्त्रियों का लखनऊ में प्रदर्शन जारी, नेताओं की रिहाई के लिए अड़ीं

लखनऊ । राज्य कर्मचारी का दर्जा और मानदेय बढ़ाने की मांग कर रही आंगनबाड़ी कार्यकर्त्रियां मंगलवार को भी अड़ी रहीं। उनको मनाने की काफी कोशिश के बाद भी हजरतगंज से नहीं हटीं। उनकी वजह से आज भी सुबह से जाम बड़ी समस्या बना रहा। बीती देर रात प्रदेश अध्यक्ष गीतांजलि मौर्या सहित 12 लोगों को गिरफ्तार किये जाने के बाद से आंदोलनकारी कार्यकर्त्रियां नारेबाजी करती रहीं।

आंगनबाड़ी कर्मचारी एवं सहायिका एसोसिएशन के बैनर तले सोमवार को शुरू हुआ उनका प्रदर्शन दूसरे दिन भी जारी रहा। सैकड़ों प्रदर्शनकारी अभी भी एकतरफ का मार्ग जाम किये हुए हैं। सोमवार को प्रदर्शन को थमता हुआ नहीं दिखाई देने पर बीती देर रात प्रशासन ने इनकी प्रदेश अध्यक्ष गीतांजलि मौर्य और अन्य नेताओं को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

फिलहाल एक तरफ से रास्ता खाली कराकर आवागमन शुरू करा दिया गया। गिरफ्तार सभी आंगनबाड़ी नेताओं पर 106 और 116 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। अपने नेताओं की गिरफ़्तारी और मांगों को न माने जाने से नाराज इन लोगों ने नारेबाजी कर विरोध दर्ज कराया। मुख्यत: ये लोग अपना मानदेय बढ़ाए जाने के लिए विगत 36 दिनों से प्रदेश भर में धरने पर बैठे हैं। इन लोगों का कहना है कि अब बग़ैर लिखित आदेश के कुछ भी नहीं मानेंगे।

loading...