CM योगी ने घटाई अखिलेश-मुलायम की सुरक्षा, मया पर मेहरबान

लखनऊ।योगी सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की काफिले में शामिल पांच एसयूवी (स्पोट्र्स यूटिलिटी व्हीकल) कारों (इसुजू) में से तीन को छीन लिया है। नायाब किस्म की इसुजू के स्थान पर पुरानी अंबेसडर कारें दी गई हैं।

जबकि पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के काफिले में दो एसयूवी बढ़ाई गई हैं। इसी प्रकार सपा संरक्षक मुलायम सिंह के काफिले से भी एसयूवी इसुजू कारों को वापस मांग लिया गया है। जबकि गृहमंत्री राजनाथ सिंह को आवंटित फ्लीट में एसयूवी कारें बढ़ा दी गई हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री मायावती को आवंटित गाडिय़ों की फ्लीट से दो अंबेसडर कार हटाकर उसके स्थान पर एसयूवी (इसुजू कार) बढ़ाई गई है। ये वही गाडिय़ां हैं जो अभी अखिलेश के काफिले में चल रही हैं। अखिलेश के काफिले की गाडिय़ों के लिए नियुक्त ड्राइवर सुनील यादव और गंगा प्रसाद को हटाकर राज्य संपत्ति विभाग से संबद्ध कर दिया गया है।

इन पूर्व मुख्यमंत्रियों के अतिरिक्त योगी आदित्यनाथ सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह की फ्लीट से एक इनोवा व दो इसुजू कारें वापस लेकर उनके स्थान पर अंबेसडर कारें उपलब्ध कराई हैं। ये अंबेसडर कारें अभी गृहमंत्री व पूर्व मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह की फ्लीट में चलती थीं। हटाई गई कारों के स्थान पर उनकी फ्लीट में एसयूवी कारें बढ़ा दी गई हैं।

गौरतलब है कि दो दिन पूर्व केंद्र सरकार ने ऐसा ही निर्णय लेते हुए प्रदेश सरकार के मौजूदा चार मंत्रियों की सुरक्षा वापस ले ली थी। इनमें ब्रजेश पाठक और नंद गोपाल नंदी भी शामिल हैं।

विपक्षी पार्टियों ने बोला हमला
योगी सरकार के इस फैसले पर विपक्षी पार्टियों ने तीखा हमला बोला है। सपा ने इस फैसले को घटिया राजनीति करार दिया है। वहीं योगी सरकार ने इसे रूटीन व्यवस्था का हिस्सा बताया है।

loading...