सपा नेता नरेश अग्रवाल ने दिया ये विवादित बयान, मांगनी पड़ी माफी

नई दिल्ली। राज्यसभा में आज मॉब लिंचिंग और किसानों के मुद्दे को लेकर काफी गहमागहमी हुई। वहीं बहस के दौरान सपा नेता नरेश अग्रवाल ने हिंदू देवताओं का नाम लेकर बवाल खड़ा कर दिया।

हालांकि चार बजे सदन की कार्यवाही फिर शुरू होने पर अग्रवाल ने अपने बयान पर खेद व्यक्त किया। इसके बाद सदन में कार्यवाही सुचारु रुप से शुरू हो पाई।

संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा कि नरेश अग्रवाल का यह बयान हिंदू धर्म का अपमान है, उन्हें माफी मांगनी चाहिए। हंगामे के बाद उनका बयान राज्यसभा की कार्रवाई से हटा दिया गया। इसके बाद कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने बहस की शुरुआत की। उन्होंने जुनैद का मुद्दा उठाया।

आजाद ने कहा कि मैं इस मुद्दे पर सरकार को ही निशाना नहीं बना रहा हूं, कई मुद्दों में यह सामने नहीं आया है कि किस पार्टी का हाथ शामिल है। उन्होंने कहा कि झारखंड के अंदर मॉब लिंचिग के मुद्दे पर लगातार कई मामले सामने आए हैं। पिछले साल जानवर ले जा रहे दो व्यक्तियों को गो रक्षकों ने मारा और पेड़ से लटका दिया।

सरकार की ओर से मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि ये जो भी घटनाएं हो रही हैं ये अपराध है इसे सांप्रदायिक रंग नहीं देना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार ने हर घटना के बाद कड़ी कार्रवाई की है। नकवी ने कहा कि हर मुद्दे पर भारत एकजुट है।

loading...