इस मिस इंडिया विजेता ने कहा अब बेटियां पूरे विश्व में कर रही नाम रोशन

मुंबई। फेमिना मिस इंडिया विजेता अनुकृति गुसाईं जब अपने घर उत्तराखंड लौटी तो उनका जोरदार स्वागत किया गया मीडिया से बात करते हुए उन्होंने बताया की उत्तराखंड की बेटियां कहीं किसी से कम नहीं है बस उन्हें जरूरत है एक अच्छे प्लेटफार्म की फिर उसके बाद सारे दुनिया भर में अपने देश का नाम रोशन करना चाहती है।

अनुकृति गुसाईं मूल रूप से पौड़ी जिले के लैंसडाउन से रहने वाली है। आज देहरादून आकर उन्होंने अपने एक्सपीरियंस मीडिया से शेयर किए और अपनी आगे की रणनीति डिस्कस की।

एक सामान्य से परिवार में पली-बढ़ी अनुकृति गुसाईं के अंदर बहुत ही आत्मविश्वास है। वह अपने उत्तराखंड की संस्कृति को लेकर काफी गंभीर है उन्होंने बताया कि कैसे उन्होंने फेमिना मिस इंडिया दिल्ली में अपने उत्तराखंड के पहाड़ी गीत को गाकर जजों को मंत्रमुग्ध कर दिया था।

उत्तराखंड में 2 मंडल है गढ़वाल और कुमाऊं अनुकृति ने बताया कि मेरे अंदर दोनों का समावेश है क्योंकि मेरी माताजी कुमाऊं मंडल से हैं और पिताजी गढ़वाल मंडल से, इसलिए दोनों की संस्कृति का एक समावेश मेरे अंदर है।

 अनुकृति का आगे लक्ष्य मिस इंडिया और मिस वर्ल्ड बनने का है। वह चाहती है मैं उत्तराखंड और अपने भारत देश का नाम रोशन करूं और यह साबित कर दूं पहाड़ की बेटियां किसी से भी कम नहीं है।

loading...