अगर डाइट में हमेशा रहते हो बीमार तो शामिल करें ये चीज!

बदलते चलन के साथ लोगों के खाने-पीने की आदतों में एक बड़ा बदलाव आया है, जिससे स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ रहा है खास तौर से पाचन तंत्र पर। अपने पाचन को अच्छा बनाए रखने का एक आसान तरीका है अपनी डाइट में त्रिफला को शामिल करना। त्रिफला सबसे प्रसिद्ध आयुर्वेदिक हर्बल उपचारों में से एक है। यह तीन फलों आंवला, बिभिताकी(बहेड़ा) और हरिताकी (हर्र) का मिश्रण है।

त्रिफला के फायदे

कब्ज से राहत
त्रिफला लंबे समय से बनी कब्ज़ से राहत देती है। त्रिफला के तीन हर्बल शरीर की देखभाल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। इसकी जड़ी-बूटियां शरीर से आंतरिक कचरे को बाहर निकालकर सफाई करने में मदद करती है। साथ ही साथ इससे पाचन में भी सुधार होता है।

मेटाबॉलिज्म बढ़ाएं
त्रिफला से मेटाबॉलिज्म बढ़ता है जिससे पाचन तंत्र सही रहता है। रात सोने से पहले इसका सेवन करने से पेट संबंधित समस्याएं दूर होती है।

रक्त शोधक
त्रिफला का चूर्ण पाचन के बाद बचे व्यर्थ पदार्थों को शरीर से बाहर निकालता है। जो लोग बार-बार बीमार पड़ते है उन्हें इसका सेवन करना चाहिए।

एंटीऑक्सिडेंट
त्रिफला में कई एंटीऑक्सीडेंट तत्व शामिल हैं, जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। इसका सेवन करने से बढ़ती उम्र का असर चेहरे पर दिखाई नहीं देता।

 

loading...