रामलीला मैदान में अन्ना हजारे ने शुरू किया अनशन, बोले- मांगें पूरी होगी तभी उठूंगा

नई दिल्ली। सामाजिक कार्यकर्त्ता अन्ना हजारे ने केन्द्र में लोकपाल नियुक्त करने की अपनी मांग को लेकर आज से अनिश्चतकालीन भूख हड़ताल शुरू की। वह रामलीला मैदान में भूख हड़ताल पर बैठे हैं जहां वह 2011 में भी बैठे थे। बहरहाल, उम्मीद की जा रही है कि इस बार उनके हमले के केन्द्र में मोदी सरकार होगी। अनशन पर बैठने से पहले वे राजघाट में महात्मा गांधी की समाधि स्थल पर गए और श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद वे शहीदी पार्क भी गए शहीदों को श्रद्धांजलि दी। हजारे ने पहले तिरंगा फहराया और फिर अनशन की शुरुआत की। सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज एवं कर्नाटक के पूर्व लोकायुक्त एन संतोष हेगड़े आंदोलन में शामिल होने रामलीला मैदान पहुंचे।

इस दौरान अन्ना ने कहा कि वे इस बार अपनी मांगें पूरी करवाए बिना नहीं उठेंगे। उन्होंने कहा कि उनके समर्थक दिल्ली कूच न कर सके इसलिए प्रशासन ने ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। अन्ना ने कहा कि सरकार क्या चाहती है कि किसान हिंसा पर उतर आएं। उन्होंने कहा कि धरने पर बैठने से पहले मैंने सरकार को कई खत लिखे, जिसमें मैंने कहा कि मुझे किसी तरह के पुलिस प्रोटेक्शन की आवश्यता नहीं है। अन्ना ने आरोप लगाया कि सरकार ने उनके किसी भी खत का जवाब नहीं दिया। बता दें कि वर्ष 2011 में भ्रष्टाचार की जांच के लिए लोकपाल के गठन की मांग को लेकर अन्ना इसी मैदान में भूख हड़ताल पर बैठे थे।

ट्रैफिक पुलिस ने जारी की एडवाइजरी
दिल्ली यातायात पुलिस ने यात्रियों को अरूणा आसफ अली रोड, दिल्ली गेट, दरियागंज, नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन, अजमेरी गेट, पहाड़गंज, आईटीओ, राजघाट, मिंटो रोड, विवेकानंद मार्ग और जेएलएन मार्ग से बच कर निकलने की सलाह दी है।

loading...