ये कंपनी ला सकती है 5G सर्विस, मिली मंजूरी

नई दिल्ली। 4G के बाद अब दुनिया को इंतजार है 5G स्पीड का और ये इंतजार शायद खत्म हो गया है। Apple को अमरीकी संघीय दूरसंचार आयोग(FCC) ने 5G टेस्ट करने के लिए मंजूरी दे दी है।

अब कंपनी इसके टेस्टिंग के लिए पूरी तरह तैयार है, ताकि वह इस टेक्नोलॉजी को आम आदमी तक पहुंचा सके. रिपोर्ट के मुताबिक एप्पल उच्च आवृत्ति (high frequency) के मिलीमीटर-वेव ब्रॉडबैंड और छोटे वेवलेंथ बैंड को टारगेट कर रहा है। मिलीमीटर-वेव ब्रॉडबैंड, हेवी डेटा को तेज़ स्पीड से भेजता है, लेकिन इसके लिए जरूरी है कि रास्ते में कोई बाधा ना हो। वहीं, बाकी कंपनियो भी 5G टेक्नोलॉजी पर काम कर रही है, जिसमें फेसबुक, गूगल, सैमसंग और स्पिरिंट शमिल है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि स्पिरिंट साल 2019 में 5G सर्विस लांच करने वाली है, जबकि T मोबाइल ने 2020 तक इसे लॉन्च करने के लिए कहा है. वहीं, एटीएंडटी और वेरीजोनन भी 5G टेक्नोलॉजी पर काम कर रहे हैं। एप्पल केलिफोर्निया में दो जगहों पर साल 2018 के अगस्त तक अपनी 5G टेक्नोलॉजी का टेस्ट करेगी। इससे पहले हाल ही में केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा था कि सरकार की रेलगाड़ियों की गति बढ़ाकर 600 किलोमीटर प्रति घंटा करने पर नजर है और इसके लिए वह Apple जैसी कंपनी के साथ बातचीत कर रही है।

loading...