नायडू बरसे, कहा- आपातकाल लगाने वाले कर रहे हैं विचारधारा की बात

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता एम वेंकैया नायडू ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए  कहा कि राष्ट्रपति पद के चुनाव में विचारधारा की बात ऐसे लोग कर रहे हैं, जिन्होंने देश में आपातकाल लगाया था।

उन्हाेंने राष्ट्रपति पद के लिए राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के प्रत्याशी रामनाथ कोविंद के नामांकन पत्र का चौथा सेट दाखिल किए जाने के बाद संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा कि राष्ट्रपति के चुनाव में विचारधारा का सवाल ही नहीं उठता, क्योंकि यह एक संवैधानिक पद है।

इसमें एक ही विचारधारा है और वह संविधान के प्रति प्रतिबद्धता है। देश में ‘आपातकाल लगाने वाले और लोकतंत्र के दुश्मन रहे’ लोग विचारधारा की बात कर रहे हैं। लोगो को याद रखना चाहिए कि देश में एक राष्ट्रपति ऐसे भी रहे जिन्होंने कैबिनेट के प्रस्ताव के बगैर ही देश में आपातकाल लगा दिया था।

अंतररात्मा की आवाज पर मतदान करने की विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार की अपील पर कटाक्ष करते हुए नायडू ने कहा कि यह ‘सुविधा’ का मामला है। उन्होंने कहा कि अंतररात्मा की आवाज की अपील का अनुभव अच्छा नहीं रहा है।

कांग्रेस एक बार राष्ट्रपति के चुनाव में इसी आवाज का इस्तेमाल करके अपने अधिकृत प्रत्याशी नीलम संजीव रेड्डी को धाेखा देकर हरा चुकी है और वी वी गिरि को जिता चुकी है।

उन्होंने कहा कि लोग कोविंद की योग्यता को ध्यान में रखकर उन्हें वोट करेंगे। नायडू ने बताया कि राजग के 33 दलों के अलावा पांच अन्य दल- जनता दल यू ,बीजू जनता दल, तेलंगाना राष्ट्र समिति और अन्नाद्रमुक के दोनों गुट कोविंद के समर्थन में हैं। कोविंद कल चंडीगढ जाएंगे और इंडियन नेशनल लोकदल के विधायक और सांसद उनकी बैठक में शामिल होंगे।

 

loading...