CM योगी ने मुफ्त बिजली कनेक्शन और E-ऐप का किया शुभारंभ

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के हर जिले को बगैर किसी पक्षपात के बिजली मुहैया कराने का वादा करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 10 फीसदी से कम लाइन हानि वाले जिलों में बिजली विभाग निर्बाध विद्युत आपूर्ति करेगा।

योगी ने यहां 10 विद्युत उपकेन्द्रों का लोकार्पण करने के बाद आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि हम बिजली देने में भेदभाव नहीं करेंगे। बिना भेदभाव के, बिना किसी रंग रूप के हम बिजली देंगे। ये जनता का अधिकार है। ये उसे मिलना चाहिए। जहां 10 फीसदी से कम लाइन लॉस होगा वहां हम लोग तुरन्त 24 घण्टे बिजली देंगे।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार गांव-गांव में बिजली पहुंचाने का काम कर रही है। सरकार ने गरीबी रेखा के नीचे गुजर बसर कर रहे 60 लाख परिवारों को मुफ्त बिजली कनेक्शन देने का संकल्प लिया है।

पिछली सरकारों के कार्यकाल में सूबे में बिजली के लिए त्राहि त्राहि मची हुई थी मगर उनकी सरकार ने बिजली विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार और बिजली चोरी पर नकेल कस कर हालात को काबू में किया। बिजली विभाग ने उम्दा काम किया उसके लिए सभी बधाई के पात्र हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने 100 दिन में इतना काम किया जितना पहले की सरकार ने दस साल में भी नहीं किया था। 100 दिन में खराब पड़े 8000 ट्रांसफार्मर बदले गए, जबकि पिछले पूरे वर्ष में केवल 5778 ट्रांसफार्मर बदले गए। पहले केवल पांच जिलों में 24 घण्टे बिजली दी जाती थी। पहले की सरकारें अपनी ही जनता के साथ भेदभाव करती थी। 100 दिनों में उनकी सरकार ने साढ़े 18 हजार घरों में बिजली पहुंचा दी है।

आदित्यनाथ ने कहा कि पिछली सरकारों ने जो बिजली समझौते किए उससे जनता पर 5000 करोड़ रुपए का बोझ पड़ता। हमने ऐसे बेकार समझौते रद्द किए हैं। उनकी सरकार चरणबद्ध तरीके से प्रदेश को विकास के रास्तेे ले जा रही है।

सरकार का प्रयास है कि हर व्यक्ति को समान रूप से योजनाओं का लाभ मिले। इस मौके पर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार की उज्ज्वला योजना के तहत गरीबों के घर रोशनी पहुंचेगी। अब प्रदेश में 24 घंटे बिजली के साथ ही जर्जर व्यवस्था को ठीक किया जा रहा है। हम गांव में गरीब को 2 रुपये यूनिट बिजली दे रहे हैं।

 

loading...