21 सालों में पहली बार इंडियन फुटबॉल को मिला ये बड़ा मुकाम

दिल्ली । गुरूवार को रिलीज हुए फीफा वर्ल्ड रैंकिंग में टीम इंडिया ने 4 जगहों की छलांग लगाकर 96वां स्थान हासिल किया है। इससे पहले आखिरी बार 1996 में इंडियन फुटबॉल टीम को 94वां स्थान मिला था। ये अब तक की दूसरी सबसे बेहतरीन रैंकिंग है।

इससे पहले 1 जून को रिलीज हुए लिस्ट में टीम इंडिया रैंकिंग में 100वें नंबर पर थी। इसके बाद टीम ने दो मैचों में जीत दर्ज किया है। आपको बता दें ये वही टीम है जिसे मार्च 2015 में 173वां स्थान मिला था। इसे टीम के लिए कॉन्फिडेंस बूस्टर के रूप में देखा जा रहा है।

02 जून को अंधेरी स्पोर्ट्स कॉम्पेलैक्स में हुए इंटरनेशनल फ्रैंडली मैच में टीम इंडिया ने नेपाल को 2-0 से हराया था। इसके हफ्ते के बाद सुनिल छेत्री की कप्तानी में टीम इंडिया ने किर्गिज रिपब्लिक को एशियन कप के क्वार्टर फाइनल में 1-0 से उनके होम ग्राउंड पर बैंगलुरु में हराया था। इसके अलावे मार्च में भी टीम ने म्यानमार और कंबोडिया को हराया था।

ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन के प्रेसिडेंट प्रफुल पटेल ने ट्विटर पर इसे इंडियन फुटबॉल के लिए ‘जायंट लीप ऑफ फेथ’ कहा है।जब से वर्ल्ड रैंकिंग सिस्टम की शुरुआत हुई है तब से इंडिया की एवरेज रैंकिंग 134वीं तक गई है। अगर एशियाई देशों में देखें तो इरान 23वें नंबर पर है। रैंकिंग में सबसे ऊपर जर्मनी की टीम है। जर्मनी की टीम ने रविवार कॉन्फेडरेशन कप में चीली को हराकर खिताब पर कब्जा किया था।

इंडियन टीम के कोच कॉन्सटेंटाइन ने कहा कि, “मैंने जब टीम को अपने हाथों में लिया था, तब मेरा पहला टारगेट टीम को रैंकिंग में 100 के निचे ले जाना था। इस प्रोसेस में अपने हिस्से का काम करके मुझे खुशी हो रही है। सभी लड़कों और टीम के स्टाफ को बधाई। इसलके अलावे ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन का भी शुक्रिया जो उन्होंने हमें इतान सपोर्ट दिया है।”

“लेकिन फीफा की इस रैंकिंग का ऐसा बिल्कुल भी मतलब नहीं है कि हमने बहुत कुछ हासिल कर लिया है।आगे के चैलेंजेज के लिए हमें फोकस्ड रहने की जरूरत है”

अभी के लिए टीम इंडिया की सबसे बड़ा लक्ष्य AFC एशियन कप में जगह बनाने की है। अगर टीम एशियन कप के लिए क्वालिफाई करती है तो यह पिछले 8 सालों में ऐसा दूसरा मौका होगा जब टीम एएफसी एशियन कप के लिए चयनिच होगी। इससे पहले साल साल 2011 में दोहा में हुए एशियन कप के लिए टीम का चयन हुआ था।

loading...